.

झुंझुनूं की हिंदुस्तान कॉपर खदान में फंसे 14 लोगों में से 10 को बाहर निकाला

झुंझुनूं/जयपुर.

नीम का थाना जिले में मंगलवार रात हिंदुस्तान कॉपर की कोलिहान खदान में लिफ्ट की रस्सी टूटने से 1800 फीट की गहराई में 14 लोग फंस गए। कल से चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन में अब तक 10 लोगों को बाहर निकाल लिया गया है। जिनमें से तीन लोगों को गंभीर हालत में जयपुर रेफर किया गया है। बाकी अन्य चार लोगों को भी बाहर निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं। अंदर फंसे सभी लोग सुरक्षित हैं।

दरअसल, नीम का थाना जिले में मंगलवार रात हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड की कोलिहान खदान में लिफ्ट की रस्सी टूटने से बड़ा हादसा हो गया था। खदान में बनी लिफ्ट का ऊपर आते वक्त अचानक रस्सा टूट गया, जिसके बाद वो करीब 1875 फीट नीचे जा गिरी। इस हादसे के वक्त खदान में कोलकाता से आई विजिलेंस टीम के 14 अधिकारी मौजूद थे। उन्हें बाहर निकालने के लिए तुरंत रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया। सुबह करीब 7 बजे तक 3 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया और इलाज के लिए जयपुर रेफर कर दिया गया।
इसके बाद करीब नौ बजे पांच और लोगों को बाहर निकाला गया है और करीब साढ़े दस बजे दो और लोगों को बाहर निकाला गया है। अब तक कुल 10 लोगों को बाहर निकाला जा चुका है। बाकी बचे चार लोग भी सुरक्षित बताए जा रहे हैं। रेस्क्यू किए गए ऑफिसर्स को जयपुर के मनिपाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा भी इस रेस्क्यू ऑपरेशन को खुद मॉनिटर कर रहे हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य तेजी से संचालित करने, प्रभावितों को हर संभव मदद और स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।

अब तक इन्हें निकाला गया बाहर
एके शर्मा उपमहाप्रबंधक खदान और कोलिहान खदान, प्रीतम सिंह प्रबंधक, हंसराम कर्मचारी, जीडी गुप्ता ईकाई प्रमुख, एके बैरा सहायक उप महाप्रबंधक मैकेनिकल, वनेंदू भंडारी सहायक उप महाप्रबंधक विजिलेंस, निरंजन साहू वरिष्ठ प्रबंधक रिसर्च, भागीरथ सिंह, करण सिंह गहलोत सुरक्षा अधिकारी  और रमेश नारायण सिंह वरिष्ठ प्रबंधक खदान को अब तक बाहर निकाला गया है।

सभी को हेल्थ चेकअप किया जाएगा
नीम का थाना के कलेक्टर शरद मेहरा से सुबह करीब 8:30 अमर उजाला के संवाददाता से हुई बातचीत में उन्होंने बताया कि 3 तीन लोग पहले ही रेसक्यू किए जा चुके हैं। अब 5 लोगों को और बाहर निकाला जा रहा है। अगले कुछ मिनटों में ये लोग बाहर निकल आएंगे। हालांकि, बाहर आने के बाद इनका हेल्थ चेकअप किया जाएगा। अंदर मोबाइल काम नहीं करते हैं, इसलिए इनकी क्या स्थिति थी इसकी जानकारी अभी प्रशासन के पास नहीं है। उम्मीद है कि आज ये ऑपरेशन पूरा कर लिया जाएगा।

किसी का हाथ तो किसी का पैर टूटा
झुंझुनू सरकारी अस्पताल के डॉ. प्रवीण शर्मा ने बताया कि खदान में फंसे सभी लोग सुरक्षित हैं। लेकिन, किसी के हाथ तो किसी के पैर में फ्रैक्चर हुआ है। तीन लोगां की हालत गंभीर थी, ऐसे में उन्हें  जयपुर रेफर किया गया है। जहां, उनका इलाज चल रहा है।

खदान में फंसे HCL के बड़े अधिकारी
लिफ्ट को सपोर्ट करने वाली रस्सी टूटने से यह हादसा हुआ था। खदान के अंदर फंसे अधिकारियों में केसीसी यूनिट (Khetri Copper Complex Unit) चीफ जीडी गुप्ता, दिल्ली से आए मुख्य सतर्कता अधिकारी उपेंद्र पांडे, कोलिहान खदान के उप महाप्रबंधक एके शर्मा शामिल थे। अन्य लोगों में विनोद सिंह शेखावत, एके बैरा, अर्णव भंडारी, यशोराज मीणा, वनेंद्र भंडारी, निरंजन साहू, करण सिंह गहलोत, प्रीतम सिंह, हरसीराम व भागीरथ थे। अभी तह यह जानकारी सामने नहीं आई है कि किसे बाहर निकाल लिया है और कौंन अंदर फंसा है।

 

    ""झुंझुनूं के खेतड़ी में हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड की कोलिहान खदान में लिफ्ट की रस्सी टूटने से हुए हादसे की सूचना प्राप्त हुई। संबंधित अधिकारियों को तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य तेजी से संचालित करने तथा प्रभावितों को हर संभव मदद व स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के…""
— Bhajanlal Sharma (Modi Ka Parivar) (@BhajanlalBjp) May 15, 2024


Back to top button