.

मैगी खाने से 10 साल के बच्चे की हुई मौत, 6 लोग फूड पॉइजनिंग का शिकार, चल रहा निजी अस्पताल में इलाज

पीलीभीत
उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में मैगी खाने के 10 साल के बच्चे की मौत हो गई है। जबकि मैगी खाने से एक ही परिवार के 6 लोगों को फूड पॉइजनिंग हो गई है। सभी लोगों का निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। इलाज में सुधार न मिलने पर मरीज CHC पूरनपुर पहुंचे हैं। मामला थाना हजारा क्षेत्र के राहुल नगर का है। वहीं इसकी जानकारी होने पर पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है।

कोतवाली इलाके के गांव राहुल नगर चंदिया हजारा के मनिराज की बेटी सीमा की शादी देहरादून में हुई है। करीब एक माह पूर्व सीमा अपने बेटे रोहन, विवेक और बेटी संध्या के साथ मायके आ गई थी। इसके बाद से मायके में ही रुकी है। मनिराज के घर में मैगी चावल बने थे। सीमा और उसके बच्चों के अलावा बहन संजू, भाभी संजना पत्नी जितेंद्र ने भी मैगी चावल खाए। उसी रात सीमा पत्नी सोनू, उसके बेटे रोहन, विवेक, बेटी संध्या, संजना, संजू  की हालत बिगड़ गई।

शुक्रवार सुबह गांव के ही क्लीनिक में सभी को उपचार के लिए भर्ती कराया गया। हालत में सुधार होने पर वह घर लौट गए। शुक्रवार रात फिर सभी की हालत बिगड़ने लगी। उलझन के साथ उन्हें दस्त शुरू हो गए। शनिवार सुबह रोहन (12) पुत्र सोनू की मौत हो गई। इससे अन्य लोग घबरा गए। सभी को उपचार के लिए पूरनपुर सीएचसी में भर्ती कराया गया। सीमा के दूसरे बेटे विवेक की हालत में सुधार न होने पर उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया है। सीएचसी के डॉ. राशिद ने बताया कि बीमार हुए सभी लोगों में फूड पॉइजनिंग के लक्षण हैं, इलाज किया जा रहा है।


Back to top button