.

मप्र के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के एक बयान से पाकिस्तान में मची खलबली, UN से लगाई गुहार

भोपाल
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के एक बयान ने पाकिस्तान में खलबली मचा दी है। दरअसल, सीएम मोहन ने भोपाल में अखंड भारत बनाने की बात कही थी और कहा था कि अखंड भारत जरूर बनेगा, पंजाब फिर से पूरा बनेगा, ननकाना साहिब हमारी आंखों के सामने आएगा। इस बयान को लेकर अब पाक के विदेश मंत्रालय ने प्रेस रिलीज जारी किया है। पाकिस्तान ने ध्वस्त बाबरी मस्जिद स्थल पर राम मंदिर के निर्माण की निंदा की है। पाकिस्तान ने कहा भारत में ‘हिंदुत्व’ विचारधारा का बढ़ता ज्वार धार्मिक सद्भाव और क्षेत्रीय शांति के लिए गंभीर खतरा है। भारत के दो प्रमुख राज्यों, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश, के मुख्यमंत्रियों ने बाबरी मस्जिद के विध्वंस या ‘राम मंदिर’ के उद्घाटन को पाकिस्तान के कुछ हिस्सों को पुनः प्राप्त करने की दिशा में पहला कदम बताया है।

प्रेस नोट किया जारी, लिखी ये बातें
पाकिस्तान भारतीय शहर अयोध्या में ध्वस्त बाबरी मस्जिद के स्थान पर ‘राम मंदिर’ के निर्माण और अभिषेक की निंदा करता है। सदियों पुरानी मस्जिद को 6 दिसंबर 1992 को चरमपंथियों की भीड़ ने ध्वस्त कर दिया था। अफसोस की बात है कि भारत की सर्वोच्च न्यायपालिका ने न केवल इस घृणित कृत्य के लिए जिम्मेदार अपराधियों को बरी कर दिया, बल्कि ध्वस्त मस्जिद के स्थान पर एक मंदिर के निर्माण की भी अनुमति दे दी। पिछले 31 वर्षों के घटनाक्रम, जिसके चलते आज का अभिषेक समारोह हुआ, भारत में बढ़ते बहुसंख्यकवाद का संकेत है। ये भारतीय मुसलमानों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक रूप से हाशिए पर धकेलने के लिए चल रहे प्रयासों का एक महत्वपूर्ण पहलू है। ध्वस्त मस्जिद की जगह पर बना मंदिर आने वाले समय में भारत के लोकतंत्र के माथे पर कलंक बना रहेगा। विशेष रूप से, वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा में शाही ईदगाह मस्जिद सहित मस्जिदों की सूची बढ़ती जा रही है, जो अपवित्रता और विनाश के समान खतरे का सामना कर रही हैं।

आगे लिखा- भारत में ‘हिंदुत्व’ विचारधारा का बढ़ता ज्वार धार्मिक सद्भाव और क्षेत्रीय शांति के लिए गंभीर खतरा है। भारत के दो प्रमुख राज्यों, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश, के मुख्यमंत्रियों ने बाबरी मस्जिद के विध्वंस या ‘राम मंदिर’ के उद्घाटन को पाकिस्तान के कुछ हिस्सों को पुनः प्राप्त करने की दिशा में पहला कदम बताया है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को भारत में बढ़ते इस्लामोफोबिया, घृणा भाषण और घृणा अपराधों पर संज्ञान लेना चाहिए। प्रेस रिलीज में कहा गया कि संयुक्त राष्ट्र और अन्य प्रासंगिक अंतर्राष्ट्रीय संगठनों को भारत में इस्लामी विरासत स्थलों को चरमपंथी समूहों से बचाने और भारत में अल्पसंख्यकों के धार्मिक और सांस्कृतिक अधिकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में अपनी भूमिका निभानी चाहिए। पाकिस्तान भारत सरकार से मुसलमानों सहित धार्मिक अल्पसंख्यकों और उनके पवित्र स्थानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह करता है।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में आयोजित हनुमान चालीसा पाठ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा था कि इतिहास बन जाएगा। रामराज्य के प्राकट्य का पहला चरण है। अखंड भारत फिर बनेगा। सिंध, पाकिस्तान, अफगानिस्तान तक अखंड भारत बनाएंगे। अफगानिस्तान तक अखंड भारत होगा। पंजाब फिर से पूरा बनेगा। ननकाना साहिब हमारी आंखों के सामने आएगा। राम मंदिर निर्माण इसका पहला चरण है। हमारा समय खराब था तो आक्रान्ताओं ने छिन्न भिन्न किया। हमारे आराध्य का मंदिर दुश्मनों की आंखों में खटकता था। समय खराब था आततायियों ने हमारे हाथ से वो छीना, लेकिन अब फिर से अखंड भारत बनेगा।


Back to top button