.

ऑनलाइन हाजिरी व्यवस्था से तनाव में चल रही शिक्षिका ने नदी में कूदकर दी जान

सैदनगर

ग्राम पंचायत लालपुर कलां के प्राथमिक विद्यालय में तैनात शिक्षिका फरहा नकी (35) ने बुधवार को बहल्ला नदी में कूदकर जान दे दी। वह मुरादाबाद के मोहल्ला आजादनगर की रहने वाली थी। गाजियाबाद की फार्मेसी कंपनी में कार्यरत शिक्षिका के पति सुहेल जैदी ने कहा है कि पत्नी शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी की व्यवस्था से तनाव में थी।

हालांकि सुहेल ने ऐसी कोई लिखित शिकायत नहीं दी है। घटना बुधवार की सुबह नंगली गांव के पास की है। फरहा बुधवार सुबह सात बजे मुरादाबाद से ऑटो से स्कूल के लिए निकली थीं। सुबह करीब 7.30 बजे स्कूल पहुंचने से पहले ही फरहा ने ऑटो रुकवाया।

वह टांडा थाना क्षेत्र के कनपुर-लालपुर रोड पर नंगली गांव के पास बहल्ला नदी की पुलिया पर जा पहुंचीं। आसपास के लोगों ने बताया कि एकाएक वह पुलिया से नदी में कूद गईं। बचाने के लिए नजदीक मौजूद कुछ लोग भी नदी में कूदे।

कुछ देर की मशक्कत के बाद फरहा को बाहर निकाला लेकिन तब तक उनकी सांसें थम चुकी थीं। पति का कहना है कि ऑनलाइन हाजिरी की व्यवस्था होने से सभी शिक्षक त्रस्त हैं। इसका विरोध भी कर रहे हैं। इसे लेकर फरहा भी काफी तनाव में थीं। टांडा पुलिस का कहना है कि इस मामले में कोई तहरीर नहीं मिली है।


Back to top button