.

गंभीर चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ से पश्चिम बंगाल-त्रिपुरा और बांग्लादेश में भारी बारिश का अलर्ट

पूर्वी मेदिनीपुर.

बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात रेमल के पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के खेपुपाड़ा के बीच आज रात टकराने की आशंका है। मौसम विभाग ने शनिवार को बताया कि चक्रवाती तूफान 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तट से टकरा सकता है। इस दौरान समुद्र में 1.5 मीटर ऊंची लहरें उठने की आशंका है, जिससे तटीय पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के निचले इलाके डूब सकते हैं।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर यात्रियों को उड़ानें निलंबित होने के कारण कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। एक बुजुर्ग यात्री के रिश्तेदार अर्नब ने कहा, 'मेरी दादी आज यहां आईं लेकिन उन्हें सूचित किया गया कि उनकी उड़ान निलंबित कर दी गई है और उन्हें कल फिर से आना होगा। यहां कई उड़ानें रद्द हो रही हैं।'

मौसम बदल रहा
पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर जिले के मंदरमणि और दीघा इलाके में मौसम बदल रहा है। आईएमडी के अनुसार, 26 मई की मध्यरात्रि के आसपास बांग्लादेश और उससे सटे पश्चिम बंगाल के तटों के बीच एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में रेमल गुजरेगा। सिविल डिफेंस के जवान सैयद अली खान कहते हैं, 'हम लोगों को अलर्ट कर रहे हैं। मौसम कल से ज्यादा खराब हो गया है।'

आज रात टकराएगा गंभीर चक्रवाती तूफान
आईएमडी ने बताया कि रेमल गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है। 26 मई की मध्यरात्रि के आसपास एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में बांग्लादेश और उससे सटे पश्चिम बंगाल के तटों से गुजरेगा।

हम पूरी तरह से तैयार: एनडीआरएफ
एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर जहीर अब्बास ने कहा, 'हम चक्रवात के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। अगर यहां चक्रवात आता है तो हमारे जवान हर तरह की आपदा से निपटने के लिए तैयार हैं। हमारी टीम अच्छी तरह से सुसज्जित है। हमारी टीम पेड़ गिरने या बाढ़ बचाव आदि के लिए तैयार है। हम हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।'

केरल में भारी बारिश
केरल में लगातार हो रही भारी बारिश से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है। कई घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं, सड़कें जलमग्न हो गई हैं।

कोलकाता हवाई अड्डे पर 394 उड़ानें रद्द
भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के एक प्रवक्ता ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दोनों क्षेत्रों की कुल 394 उड़ानें (आगमन और प्रस्थान) कोलकाता हवाईअड्डे से संचालित नहीं होंगी।

बंगाल सरकार ने बनाया कंट्रोल रूम
बंगाल सरकार ने शनिवार को उच्चस्तरीय बैठक की और चक्रवात से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गाबा ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से राज्य के अधिकारियों से तैयारियों का जायजा लिया।

त्रिपुरा के 8 जिलों के लिए जारी की चेतावनी
त्रिपुरा सरकार ने अगले 48 घंटों में भारी से बहुत भारी बारिश, तेज हवाओं और तूफान की चेतावनी के बाद सभी आठ जिलों में अलर्ट जारी किया है। अतिरिक्त सचिव (राजस्व) तमल मजूमदार ने कहा कि चक्रवाती तूफान के प्रभाव के कारण 28 मई तक राज्य में भारी बारिश और तेज हवाएं चलने की संभावना है। 26 मई को दक्षिण त्रिपुरा, गोमती, धलाई, सिपाहीजला और पश्चिम त्रिपुरा जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

अगले पांच घंटों में एक गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलेगा रेमल
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, चक्रवात 'रेमल' अगले कुछ घंटों में एक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा। 26 मई की मध्यरात्रि के आसपास एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में बांग्लादेश और उससे सटे पश्चिम बंगाल के तटों से गुजरेगा


Back to top button