.

Basmati Variety Kisan News : बासमती चावल की दो नई किस्में आई मार्केट में, बहुत कम पानी और कम मजदूरी में मिलेगी बंपर पैदावार, किसानो की होगी मोटी कमाई

Basmati Variety Kisan News :

 

Basmati Variety Kisan News : नई दिल्ली | [बिजनेस बुलेटिन] | ऑनलाइन बुलेटिन : समय के साथ पानी की समस्या भी बढ़ रही है, खेतों में सिंचाई करने के लिए पानी की उपलब्धता बहुत कम होगी है। इसी को ध्यान में रखकर आप नई-नई खेती की तकनीक अपनाई जा रही है। जिससे मजदूरों की आवश्यकता भी काम हो रही है और कम पानी में किसान खेती अच्छी कर सकते हैं। इसी के लिए बासमती चावल की दो नहीं किस्म का आविष्कार किया गया है। (Basmati Variety Kisan News)

 

सभी किसान भाइयों के लिए हम आज बहुत अच्छी जानकारी लेकर आए हैं, जिसे पढ़ने के बाद आपके चेहरे पर खुशी दिखाई देने लगेगी। समय के साथ खेती करने का तरीका बदल रहा है और लोग पारंपरिक तरीके को बदलकर चावल की खेती में सीधी बुवाई का तरीका अपना रहे हैं। पारंपरिक तरीके से पौधों की रोपाई में ज्यादा समय लगता है, साथ ही मजदूरी भी बहुत ज्यादा लगती है। एक किलोग्राम धान की रोपाई करने में किसानों को लगभग 3000 लीटर पानी की जरूरत पड़ जाती है।(Basmati Variety Kisan News)

सीधी बुवाई के लिए IARI ने जारी की दो नई किस्म

अगर आप बासमती चावल की खेती करते हैं तो भर्तीय कृषि अनुसंधान केंद्र ने दो नहीं किस्म का विकास किया है। इन किस्म का सबसे अच्छा फायदा यह है कि जब आप इन पर कीटनाशिका छिड़काव करेंगे, तो सिर्फ खरपतवार और कीट ही खत्म होंगे, पौधे पर कोई भी प्रभाव नहीं पड़ेगा। साथ ही इसकी फसल 115 से 120 दिन में तैयार हो जाएगी, इस किस्म की वजह से आप सीधी बुवाई विधि का उपयोग करेंगे जिससे कम पानी और काम मजदूरी में आप खेती कर पाएंगे।(Basmati Variety Kisan News)

विकास हुआ पूसा बासमती 1979 और पूसा बासमती-1509 किस्म का

भर्तीय कृषि अनुसंधान केंद्र ने पूसा बासमती 1121 को सुधार करके उसे विकसित किया है। और खरपतवारनासक दवा की प्रतिरोधी फसल तैयार की है। धान की खेती के लिए अब आप इन नई किस्म का उपयोग कर सकते हैं।(Basmati Variety Kisan News)

किसान कर सकेंगे कम लागत में खेती

दो नहीं किस्म बनाई गई है, जिसके लिए आपको खरपतवार नियंत्रण करने में भी कामयाबी मिलेगी। चावल की खेती करने के दौरान आपकी लागत में कटौती आ जाएगी, साथ ही कम मजदूरी में आप आराम से अच्छी खेती कर पाएंगे। इस किस्म से खेती करने पर आपके प्रति एकड़ लगभग ₹4000 तक की बचत होती है।(Basmati Variety Kisan News)

बचत होगी पानी की भी

इन किस्म से जब आप चावल की खेती करेंगे तो आपके प्रति एकड़ 3000 लीटर पानी की जरूरत नहीं होगी। यहां पर लगभग 35% तक पानी की बचत होती है और 1 किलोग्राम चावल की रोपाई करने के लिए मात्र आपको 2000 लीटर पानी की जरूरत ही पड़ती है। हम देख सकते हैं कि पंजाब और हरियाणा के क्षेत्र में जमीन के पानी का लेवल बहुत नीचे चला गया है। ऐसे में वहां पर इन किस्म का उपयोग बहुत अच्छा बढ़ जाता है।(Basmati Variety Kisan News)

 

🔥 सोशल मीडिया

फेसबुक पेज में जुड़ने के लिए क्लिक करें

https://www.facebook.com/onlinebulletindotin

व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़ने के लिए क्लिक करें

https://chat.whatsapp.com/Cj1zs5ocireHsUffFGTSld

 

ONLINE bulletin dot। n में प्रतिदिन सरकारी नौकरी, सरकारी योजनाएं, परीक्षा पाठ्यक्रम, समय सारिणी, परीक्षा परिणाम, सम-सामयिक विषयों और कई अन्य के लिए onlinebulletin.in का अनुसरण करते रहें.

 

🔥 अगर आपका कोई भाई, दोस्त या रिलेटिव ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन में प्रकाशित किए जाने वाले सरकारी भर्तियों के लिए एलिजिबल है तो उन तक onlinebulletin.in को जरूर पहुंचाएं।


Back to top button