.

कनाडाई पुलिस की जांच टीम ने खालिस्तानी हरदीप सिंह निज्जर के मर्डर में एक और भारतीय गिरफ्तार, अब तक 4 को पकड़ा

कनाडा
खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या से जुड़े केस में कनाडा की पुलिस ने चौथे भारतीय को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने शनिवार को कहा कि हत्याकांड में पकड़ा गया चौथा आरोपी हथियारों की तस्करी को लेकर पहले ही पुलिस की हिरासत में था, उस पर अब निज्जर की हत्या करने और साजिश रचने के नए आरोप लगाए गए हैं। कनाडा पुलिस इससे पहले तीन और भारतीयों को भी गिरफ्तार कर चुकी है।

कनाडाई पुलिस की जांच टीम इंटीग्रेटेड होमिसाइड इन्वेस्टिगेशन टीम (आईएचआईटी) ने बताया कि उन्होंने अमनदीप सिंह नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया है और उस पर फर्स्ट-डिग्री हत्या और कनाडाई नागरिक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या की साजिश का आरोप लगाया है। इस संबंध में कनाडा पुलिस पहले ही करण बराड़, कमलप्रीत सिंह और करणप्रीत सिंह को गिरफ्तार कर चुकी है।

आईएचआईटी ने कहा कि ब्रैम्पटन, सरे और एबॉट्सफ़ोर्ड में रहने वाला 22 वर्षीय भारतीय युवक अमनदीप सिंह पहले से ही ओंटारियो में पुलिस की हिरासत में था। अब उस पर निज्जर की हत्या की साजिश में साथ देने का आरोप लगाया है। साथ ही अन्य तीन आरोपियों की तरह अमनदीप पर फर्स्ट डिग्री हत्या करने के संगीन आरोप भी हैं।

गौरतलब है कि हरदीप सिंह निज्जर की कनाडा के सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। निज्जर भारत में वांटेड आतंकियों की 40 नामों की लिस्ट में शामिल था। जिस आधार पर कनाडाई सरकार ने भारत पर निज्जर की हत्या करने का आरोप लगाया।

निज्जर की हत्या को लेकर कनाडाई सरकार के आरोपों के बाद दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों में गिरावट भी देखी गई थी। भारत ने जस्टिन ट्रूडो सरकार से हत्याकांड में भारतीय संलिप्तता के सबूत मांगे हैं। ट्रूडो पर आरोप है कि वे कनाडा में भारत का नाम लेकर वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं।

 


Back to top button