.

छत्तीसगढ़ PSC मामले में इन-इन अधिकारियों पर मामला दर्ज, सीएम बोले- बख्शे नहीं जाएंगे गुनाहगार

रायपुर
 छत्तीसगढ़ के सीजीपीएससी घोटाला मामले में ACB/EOW ने एफआईआर दर्ज की है। इस मामले के दर्ज होने के बाद अब यह कहा जा रहा है कि प्रदेश में जल्द CBI भी इसी के केस की जांच के लिए पहुंच सकती है। ACB/EOW में दर्ज केस से पूर्व IAS और तत्कालीन PSC चेयरमैन टामन सिंह सोनवानी सहित अन्य आरोपियों के नाम दर्ज हैं। जिसके बाद अफसर और नेताओं की मुश्किलें आने वाले समय में बढ़ सकती हैं। FIR के बाद देर रात मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने भी X पर पोस्ट कर प्रभावित अभ्यर्थियों को आश्वस्त किया है कि गुनाहगार किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जाएंगे।

शिकायती पत्र के आधार पर छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के तत्कालीन अध्यक्ष टामन सिंह सोनवानी, तत्कालीन सचिव जीवन किशोर ध्रुव, तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक एवं शासन और आयोग में तत्समय पदस्थ संलिप्त लोकसेवकगण और संबंधित राजनेतागण एवं अन्य के द्वारा अपने-अपने पद का दुरुपयोग करते हुए, राजनैतिक प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए, छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग की चयन प्रक्रिया वर्ष 2020 एवं 2021 और असिस्टेंट प्रोफेसर चयन परीक्षा में नियम विरूद्ध नियुक्ति हुई है।

लोगों ने आपराधिक षड़यंत्र करते हुए अपने पुत्र, पुत्री-रिश्तेदारों को कई पात्र योग्य अभ्यार्थियों के बदले इनका चयन शासकीय पदों पर करते हुए शासन एवं उन योग्य अभ्यार्थियों के साथ भ्रष्ट आचरण करते हुए छल कारित किया गया है, जो कि धारा 120 बी, 420, भादवि एवं धारा 7, 7 (क), एवं 12 भ्र.नि.अ. 1998 यथा संशो. 2018 के तहत अपराध कारित किया जाना पाया गया है, अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।


Back to top button