.

Chardham Yatra : प्रशासन ने अस्थायी पंजीकरण व्यवस्था के बाबजूद अब तक चार हजार तीर्थयात्री ऋषिकेश से घर लौट गए

देहरादून

चारधाम की सुगम यात्रा के लिए लगातार सरकार द्वारा प्रयास किए जा रहें हैं। लेकिन, बावजूद इसके शासन-प्रशासन की कोशिशें रंग नहीं ला पा रही हैं। तीर्थयात्रा पर आए कई श्रद्धालु धामों के दर्शन किए बिना ही घरों को लौटने लगे हैं। प्रशासन ने अस्थायी पंजीकरण व्यवस्था भी शुरू की है। लेकिन, अब तक करीब चार हजार तीर्थयात्री ऋषिकेश से घर लौट गए। चारधाम यात्रा में इस बार श्रद्धालुओं के पंजीकरण की संख्या रिकॉर्ड तोड रही है, बुकिंग लगातार फुल होती नजर आ रही हैं। यही वजह है कि ऑफलाइन पंजीकरण पर रोक लगानी पड़ी है। पंजीकरण बंद होने पर ऋषिकेश में रोके गए करीब 12 हजार तीर्थयात्रियों को धामों के दर्शन कराने के लिए प्रशासन ने अस्थायी पंजीकरण व्यवस्था भी शुरू की।

प्रशासन की योजना थी कि अस्थायी पंजीकरण कर इन यात्रियों को धामों के लिए रवाना किया जाएगा, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हो पाया। सोमवार शाम करीब 5 बजे प्रशासन ने अस्थायी पंजीकरण व्यवस्था भी बंद कर दी। इसके बाद करीब चार हजार तीर्थयात्री ऋषिकेश से घर लौट गए। लौटने वाले तीर्थयात्रियों का कहना था कि उत्तराखंड में पहुंचने के बाद भी धामों के दर्शन न कर पाना दुर्भाग्य है।
उल्लेखनीय है कि प्रशासन ने 31 मई तक ऑफलाइन पंजीकरण बंद रखने का निर्णय लिया है। जिसके चलते परेशान होकर तीर्थ यात्री बिना दर्शन किए ही घर वापसी कर रहे हैं, विपक्ष एक ओर सरकार पर निशाना साध रही है तो वहीं भाजपा बचाव करती नजर आ रहीं है देखना होगा कि आगामी दिनों में चारधाम व्यवस्थाएं कितनी दुरुस्त हो पाती हैं।

धामी सरकार खोखले दावे कर रही हैः मथुरा दत्त जोशी
अब बिना दर्शन किए श्रद्धालुओं के घर लौटने पर विपक्ष भी सरकार पर हमला बोल रहा है। कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष मथुरा दत्त जोशी का कहना है कि सरकार खोखले दावे कर रही है। बहुत से यात्री बिना दर्शन के वापस लौट गए हैं। उन्होंने कहा कि कई तस्वीरें सामने आई हैं जिनमें यात्रियों ने ही खुद अव्यवस्थाओं को उजागर करने का काम किया है। मथुरा दत्त ने कहा कि सरकार के प्रतिनिधि मंत्री चुनाव में मस्त है वहीं मुख्यमंत्री धर्मगुरु बन रहे हैं और प्रचार में लगे हुए हैं। अधिकारी- जिलाधिकारी हाथ से निकल गए हैं। पर्यटन और धर्मस्व मंत्री का भगवान मालिक है। क्योंकि वो कभी-कभी विदेश से यहां उतरते हैं। उन्होंने कहा कि 4000 से ज्यादा लोग आक्रोश व्यक्त करते हुए वापस घर लौटे हैं, ये दुर्भाग्यपूर्ण है।

सरकार ने श्रद्धालुओं के लिए बेहतर व्यवस्थाएं की हैंः मनवीर चौहान
इधर, भाजपा यात्रियों के वापस लौटने पर सरकार का बचाव करती नजर आ रही है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर चौहान का कहना है कि देश और दुनिया से यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की बेहतरी के लिए ही व्यवस्थाएं की गई हैं। यात्रा को सुव्यवस्थित सुगम और सुरक्षित कराने के लिए ही व्यवस्थाएं बनाई गई हैं। उन्होंने कहा कि यात्रा प्रबंधन आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए ही किया गया है। हो सकता है इसके बीच कई कठिनाइयां आ रही हों। लेकिन, सरकार का प्रयास है की चारधाम रूट पर श्रद्धालुओं को कोई तकलीफ न हो। इसीलिए सभी को सहयोग देना चाहिए।


Back to top button