.

राजनांदगांव में दो करोड़ रुपये का लोन दिलाने के नाम पर 39 लाख रुपये की ठगी

राजनांदगांव

फाइनेंस कंपनी से लोन दिलाने के नाम पर दुकानदार से 39 लाख की ठगी करने का मामला सामने आया है। नंदई रोड निवासी पीड़ित लेथ वर्क्स शाप एवं माइनिंग स्क्रींनिग का काम करता है। व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहता था इसके लिए करीब दो करोड़ रुपये की जरुरत थी। इसी बीच इसकी पहचान रायपुर निवासी पुरुषोत्तम दास मानिकपुरी से हुई।

पुरुषोत्तम ने पीड़ित पुरुषोत्तम भाई पढारिया को दो करोड़ रुपये का लोन दिलाने का आश्वासन दिया। यहीं नहीं लोन निकालने के पहले कुछ राशि जमा करने की बात कही। पीड़ित झांसे में आ गया और अलग-अलग किश्तों में करीब 39 लाख रुपये दे दिए। लेकिन अब तक दो करोड़ का लोन नहीं मिल पाया है। वहीं लोन दिलाने के नाम पर ली गई राशि को भी आरोपी वापस नहीं लौटा रहा है।

मुख्य आरोपी पुरुषोत्तम दास मानिकपुरी ने अपने मित्र टिकाशंकर सिदार, देवकुमार पटेल और बबीता मानिकपुरी के साथ मिलकर दुकानदार से करीब 39 लाख रुपये की ठगी की है।

ठगी के आरोपी फरार
आरोपी पुरुषोत्तमदास मानिकपुरी ने रायपुर में जिस कंपनी का नाम दिया था वह भी उसका कोई अता-पता नहीं है। आरोपी ने पूरी प्लानिंग के साथ दुकानदार को 39 लाख का चूना लगाया है। इसमें उसके दोस्तों का भी हाथ है। प्राथमिकी दर्ज होने की सूचना मिलते ही आरोपी अपने ठिकानों से भाग निकले। मामले में बसंतपुर पुलिस ने चारों ठगों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर जांच में जुट गई है।


Back to top button