.

‘मेरे संपर्क में सभी विधायक, पूर्व CM रमन सिंह बोले- JCCJ के MLA आना चाहे तो भाजपा विचार करेगी | ऑनलाइन बुलेटिन

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | जेसीसीजे (जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़-जोगी) पार्टी से विधायक धर्मजीत सिंह को 6 साल के लिए निष्कासित किए जाने और जेसीसीजे के 2 विधायकों के भाजपा प्रवेश की अटकलों के बीच BJP के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह ने कहा कि मेरे संपर्क में सभी हैं। विधायक, विधायक के संपर्क में नहीं रहेगा।

 

विधानसभा में उनसे चर्चा और बातचीत होती है। उनका स्वतंत्र विचार और अस्तित्व रहा है। सभी को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के कार्यक्रम में आमंत्रित किया था। वो आए भी थे। सभी नेताओं से हमारे बेहतर संबंध हैं। आने वाले समय में भी हमारे संबंध अच्छे रहेंगे।

 

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के विधायकों के भाजपा में प्रवेश करने से जेसीसीजे का विलय हो जाने पर रमन सिंह ने कहा कि यह निर्णय उनका है। अगर दोनों विधायक भाजपा ज्वाइन करने का निर्णय लेते हैं तो पार्टी विचार करेगी। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) की रणनीति क्या है, मुझे समझ में नहीं आया। उन्होंने कहा कि विधायक पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त नहीं थे। विधायक अपने दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं। पार्टी ने अलग कर दिया है तो वह कहीं भी जा सकते हैं। अब उनके लिए रास्ते खुल गए हैं।

 

जेसीसीजे को लेकर प्रदेश में सियासत गर्म

 

बता दें कि JCCJ ने सियासी संकट की जानकारी होते ही लोरमी धर्मजीत सिंह को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। रविवार को धर्मजीत को निष्कासित करने के बाद जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की केंद्रीय अध्यक्ष डॉ. रेणु जोगी और प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत से मुलाकात कर धर्मजीत सिंह को पार्टी से निष्कासित करने की सूचना देकर डॉ. रेणु जोगी को विधायक दल के नेता की मान्यता देने का आग्रह किया है। पार्टी ने धर्मजीत सिंह की विधानसभा सदस्यता रद्द करने की सिफारिश भी की है।

तालाब को पड़त भूमि बताकर पटवारी ने कराई रजिस्ट्री, फर्जी नक्शा, खसरा जारी कर दिया कार्य को अंजाम l ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

वहीं लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह और बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा ने रायपुर में प्रेस कांफ्रेंस कर जेसीसीजे के प्रदेश अमित जोगी पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

 

 

सुप्रीम कोर्ट में बोले वकील; सिखों की पगड़ी की तरह हिजाब भी अहम, अच्छा लगे या ना लगे पर अधिकार नहीं छीन सकते | ऑनलाइन बुलेटिन

 

 

Related Articles

Back to top button