.

बंद को सफल बनाने सर्व आदिवासी समाज व छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना सड़क पर उतरे band ko saphal banaane sarv aadivaasee samaaj va chhatteesagadhiya kraanti sena sadak par utare

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | प्रदेश के बालोद जिले में सर्व आदिवासी समाज व छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना बंद को सफल बनाने को लेकर आंदोलन दुकानें बंद करा रहे थे। इस बीच असामाजिक तत्वों के भिड़ में घुस जाने से आंदोलन की दिशा बदल गई। जिले के गुंडरदेही नगर में दुकानों को बंद करवाने के दौरान व्यापारियों और भीड़ के बीच जमकर मारपीट हुई। दोनों के बीच जमकर लाठियां चली।

 

छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना के लोग सड़क पर उतर आए। इस दौरान कुछ व्यापारियों ने विरोध किया तो विवाद की स्थितिनिर्मित हो गई। इस बीच आंदोलन को असफल बनाने असामाजिक तत्व भीड़ में घुस गए और आंदोलन हिंसा में बदल गया।

 

भीड़ ने व्यापारियों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा, जिससे कई घायल हो गए है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गुंडरदेही नगर में अभी तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है। बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती भी कर दी गई है।

 

दरअसल, छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना व सर्व आदिवासी समाज ने जिला बंद का आह्वान किया था। कई दुकानें खुली हुई थी, जिसे सफल बनाने छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शांतिपूर्वक सड़क पर उतरे। दुकानें बंद कराने लगे इसी दौरान भीड़ में घुस असामाजिक तत्वों का व्यापारियों से विवाद हो गया। गुस्साएं लोग सड़क पर उतर आए।

 

इस बीच दुकानें बंद करने को लेकर जमकर लाठियां चलने लगी। माहौल को गरमाता देखते हुए बालोद जिला मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल रवाना किया गया। घटना की सूचना पर पुलिस के अधिकारी और जवान भी पहुंचे। पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में सड़क पर हंगामा होता रहा।

 

गुंडरदेही में पुलिस बल तैनात

 

पुलिस विभाग के सिपाही व्यापारियों को दुकानों के अंदर भेजते रहे और भीड़ को वहां से खदेड़ते भी दिखे। मारपीट में घायल को गुंडरदेही के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। गुंडरदेही नगर में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है।

 

जामड़ी पाटेश्वर धाम के प्रमुख बाबा बालक नाथ के पर कार्रवाई और गिरफ्तारी की मांग को लेकर बुधवार को बंद कराया गया था। गुंडरदेही व्यापारी संघ के सदस्यों पर हुए हमले को लेकर संघ के लगभग 200 व्यापारी पुलिस थाना पहुंचे हैं और आरोपियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

 

 

To make the bandh successful, all the tribal society and Chhattisgarhia Kranti Sena came out on the road.

 

 

Raipur | [Chhattisgarh Bulletin] | In Balod district of the state, Sarva Adivasi Samaj and Chhattisgarhia Kranti Sena were closing the agitation shops to make the bandh successful. Meanwhile, the direction of the movement changed as anti-social elements entered the clash. During the closure of shops in Gundardehi Nagar of the district, there was a fierce fight between the traders and the crowd. There was a lot of sticks between the two.

 

People of Chhattisgarhia Kranti Sena came out on the road. During this, when some traders protested, a situation of dispute arose. Meanwhile, anti-social elements entered the crowd making the movement unsuccessful and the movement turned into violence.

 

The mob ran and hit the traders, injuring many. The injured have been admitted to hospital. Tension prevails in Gundardehi Nagar. A large number of police forces have also been deployed.

 

In fact, Chhattisgarhia Kranti Sena and Sarva Adivasi Samaj had called for a district bandh. Many shops were open, to make it successful, the officers and workers of Chhattisgarh Kranti Sena came out on the road peacefully. During this time, anti-social elements entered the crowd and had a dispute with the traders. Angry people came out on the road.

 

Meanwhile, lathis started running fiercely to close the shops. Seeing the scorching atmosphere, additional police force was dispatched from Balod district headquarters. Police officers and jawans also reached on the information of the incident. There was a ruckus on the road in the presence of police officers.

 

 Police force deployed in Gundardehi

 

The constables of the police department kept sending the traders inside the shops and were also seen driving the crowd from there. The injured in the assault has been admitted to the primary health center in Gundardehi for treatment. Tension prevails in Gundardehi Nagar.

 

Jamdi Pateshwar Dham’s chief Baba Balak Nath was closed on Wednesday demanding action and arrest. About 200 traders of the Sangh have reached the police station regarding the attack on the members of Gundardehi Traders Association and are demanding action against the accused.

 

 

 

 

©नवागढ़ मारो से धर्मेंद्र गायकवाड़ की रपट   

 

टेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्रकैद, कश्मीर में कड़ी सुरक्षा terar phanding kes mein yaaseen malik ko umrakaid, kashmeer mein kadee suraksha

 

Related Articles

Back to top button