.

बिलासपुर का वसूलीबाज टीचर नंदकुमार साहू सस्पेंड: ig ने दिए जांच के आदेश, पुलिस ने हिरासत में लिया; बड़े रैकेट का अंदेशा | ऑनलाइन बुलेटिन

बिलासपुर / रायपुर | (छत्तीसगढ़ बुलेटिन) | चयनित शिक्षक की पोस्टिंग में वसूली करने वाले शिक्षक नंदकुमार साहू को संयुक्त संचालक ने सस्पेंड कर दिया है। मनचाही जगहों पर पोस्टिंग दिलाने के उसकी वसूली का ऑडियो वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया है। आला अधिकारियों ने विभाग की छवि धूमिल करने के आरोप में उसके खिलाफ यह कार्रवाई की है। इधर, ig रतनलाल डांगी के निर्देश पर sp पारुल माथुर ने भी इस मामले के जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस ने शिक्षक नंदकुमार साहू को पकड़ लिया है और उससे पूछताछ शुरू कर दी है।

 

शिक्षक नंदकुमार साहू बिल्हा ब्लॉक के गवर्नमेंट मिडिल स्कूल बहतराई में पदस्थ है। दो माह पहले ही वह सीधी भर्ती में चयनित होकर शिक्षक बना है। पदस्थापना के नाम पर लेनदेन का उसका ऑडियो वायरल होने के बाद सिविल सेवा एवं वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील नियम के प्रावधान के अनुसार को निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में उसका मुख्यालय मस्तूरी ब्लॉक में रखा गया है। इस दौरान नियामनुसार उसे जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता रहेगी।

 

asp कर रही जांच

 

ig रतनलाल डांगी ने भी वसूली के इस खबर को गंभीरता से लिया है। उन्होंने sp पारुल माथुर को जांच कराने और प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। sp माथुर ने मामले की जांच के लिए एडिशनल sp गरिमा द्विवेदी को जांच की जिम्मेदारी सौंपी है। पुलिस अफसरों ने संयुक्त संचालक ऑफिस से जानकारी जुटाकर शिक्षक नंदकुमार साहू को पकड़ लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

सांसद राहुल गांधी ने प्रदर्शनी स्थल में प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल योजना के बारे में विशेष रूप से जानकारी ली | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

बड़े रैकेट का हो सकता है भंडाफोड़

 

पुलिस अफसरों का कहना है कि शिक्षक नंदकुमार साहू को उसके मोबाइल नंबर के आधार पर पकड़ लिया गया है। उससे पूछताछ कर जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस यह भी पतासाजी कर रही है कि उसके पास शिक्षा विभाग की सूची कैसे और कहां से मिली। वसूली के इस खेल में उसके पीछे-पीछे कौन कौन हैं, यह जानकारी हासिल करने की कोशिश की जा रही है। इस मामले में किसी बड़े गिरोह का हाथ हो सकता है।

 

नंद कुमार साहू का यह कृत्य छ.ग. सिविल सेवा आचरण नियम के विपरीत कृत्य है। अतः छ.ग. सिविल सेवा एवं (वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 में दिये गये प्रावधान के तहत नंद कुमार साहू शिक्षक शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला बहतराई विकासखण्ड बिल्हा को प्रथम दृष्टिया दोषी पाये जाने के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है।

 

ये था मामला

 

शिक्षक नंदकुमार साहू का एक ऑडियो वायरल हुआ था। उसमें वह एक चयनित शिक्षक को शहर और मनचाही जगहों पर पोस्टिंग दिलाने के लिए 90 हजार रुपए की डिमांड कर रहा था। इस ऑडियो को चयनित प्रतियोगी की ओर से वायरल किया गया है। मालूम हो कि राज्य शासन ने चयनित शिक्षकों की सूची जारी की है। इसमें बिलासपुर संभाग में करीब 140 शिक्षकों की नियुक्ति होनी है। चयनित शिक्षकों को संभाग के बिलासपुर के साथ ही मुंगेली, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही, जांजगीर-चांपा, कोरबा और रायगढ़ जिले में रिक्त पदों पर नियुक्ति दी जानी है। इन्हीं नियुक्ती को लेकर नंदकुमार पैसे मांग रहा था।

मुख्यमंत्री ने अपने निवास परिसर में लगाया हर्रा और चार का पौधा : प्रदेशवासियों को वृक्ष लगाने और उनकी रक्षा करने का संदेश दिया | Newsforum
READ

 

 

Related Articles

Back to top button