.

मुख्यमंत्री भूपेश ने किया मुंगेली व्यापार मेले के ब्रोशर का विमोचन, 8 दिसंबर 2022 से होगा आयोजन का आगाज | ऑनलाइन बुलेटिन

मुंगेली | [अनिल बघेल] | CG News: स्टार्स आफ टुमारो वेलफेयर सोसायटी मुंगेली के प्रतिनिधि मंडल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उनके निवास छत्तीसगढ़ कार्यालय में सौजन्य मुलाकात की. इस अवसर पर संस्था के संयोजक रामपाल सिंह ने आमंत्रण पत्र निवेदित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मेले में सम्मिलित होने का न्योता दिया. जिस पर उन्होंने मेले में सम्मिलित होने का आश्वासन प्रदान किया. साथ ही मुंगेली के त्यौहार के नाम से प्रसिद्ध बहुप्रतीक्षित मुंगेली व्यापार मेला के 7वें वर्ष के ब्रोशर का विमोचन किया.

 

इस अवसर पर मुंगेली जिला कांग्रेस प्रभारी सीमा वर्मा, नगर पालिका अध्यक्ष हेमेंद्र गोस्वामी, स्टार्स ऑफ टुमॉरो के संयोजक रामपाल सिंह, स्टॉल प्रभारी गौरव जैन, सांस्कृतिक प्रभारी राहुल कुर्रे उपस्थित रहे.

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने व्यापार मेले में आमंत्रण के लिए प्रतिनिधिमंडल को धन्यवाद देते हुए व्यापार मेले के सफल आयोजन के लिए आयोजन समिति के सदस्यों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टार्स ऑफ टुमारो वेलफेयर सोसायटी द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रयासों की भी सराहना की और पिछले सालों में व्यापार मेला के माध्यम से व्यापार व्यवसाय के क्षेत्र में अनुकूल वातावरण के निर्माण के लिए प्रयासों की भी सराहना की.

 

स्टार्स ऑफ टुमारो वेलफेयर सोसायटी मुंगेली के तत्वाधान में 6 दिवसीय मुंगेली व्यापार मेला का आयोजन 8 दिसंबर से 13 दिसंबर 2022 तक किया जा रहा है. मुंगेली जिले के औद्योगिक और व्यापारिक गतिविधियों के विकास और प्रोत्साहन के लिए पिछले 6 साल से आयोजन किया जा रहा है. जिसकी ख्याति साल दर साल बढ़ती ही जा रही है.

सांसद राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति का भूमिपूजन एवं शिलान्यास किया | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

पिछले साल की तरह इस साल भी व्यापार मेले में देश के सभी राज्यों के प्रमुख उत्पाद के साथ हस्तशिल्प, टेराकोटा, खादी ग्रामोद्योग, बस्तर आर्ट, महिला गृह उद्योग, हर्बल प्रोडक्ट, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, छत्तीसगढ़ सहित राष्ट्रीय स्तर के उपयोगी उत्पादों, शिक्षा, स्वास्थ, कृषि, आटोमोबाइल, लघु और कुटीर उद्योगों के साथ ही शासन के द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओ के स्टाल लगाया जाता है।

 

साथ ही शाम से लेकर देर रात तक होने वाले विविध परिवारिक सांस्कृतिक गतिविधिया, स्वस्थ मनोरंजन के लिए अत्याधुनिक झूला घर एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम आकर्षण के केंद्र होंगे.

 

ये भी पढ़ें:

बस्तरिया और छत्तीसगढ़िया गाना में जमकर थिरके संस्कृति मंत्री एवं जनप्रतिनिधिगण, राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का रंगारंग समापन | ऑनलाइन बुलेटिन

 

Related Articles

Back to top button