.

सतनामी समाज के लोगों पर जानलेवा हमला, कवर्धा पहुंचे भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष satanaamee samaaj ke logon par jaanaleva hamala, kavardha pahunche bheem aarmee ke pradesh adhyaksh

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | कवर्धा अंतर्गत धरमपुरा गांव में वर्षों से स्थापित जैतखाम के स्थान पर सरपंच द्वारा गौठान बनाने का विरोध सतनामी समाज के लोगों ने किया तो 11 जुलाई 2022 को गांव के ही एक अन्य समाज के लोगों ने कथित रूप से लोहे के राड़, चाकू और लाठी डंडे से सतनामी समाज के लोगों के घर में घुसकर 5 लोगों पर प्राणघातक हमला किया। हमले में घायल लोगों को उपचार के लिए पिपरिया सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्र ले जाया गया। आरोप है कि पिपरिया हॉस्पिटल में 2 अज्ञात व्यक्ति द्वारा बेदराम पिता देवचरण व कुंजल पिता सदाराम को दरवाजा बंदकर मारा गया।

 

सतनामी समाज के साथ हुए जानलेवा हमले की खबर सुनते ही भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार जांगड़े अपनी टीम के साथ पहुंचे। कवर्धा जिला के कलेक्ट्रेट जहां समाज के लोगों के साथ कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को लिखित ज्ञापन सौंपा।

भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार जांगड़े ने गहरी नाराजगी जताते हुए कहा कि धरमपुरा में लगातार 3 साल से हो रहे सतनामी समाज पर जानलेवा हमला नही थम रहा है। आखिर सतनामी समाज के ही लोगों का क्यों खून बहाया जा रहा है।

 

ज्ञापन में सभी हमलावरो को पकड़कर तत्काल कार्यवाही कर की मांग भीम आर्मी ने किया है। ऐसा नही होने पर भीम आर्मी चीफ राजकुमार जांगड़े अपने समाज के साथ मिलकर न्याय के लिए कवर्धा जिला बंद कराएंगे।

कलेक्ट्रेट से वे सीधे हॉस्पिटल पहुंचे। जहां सभी घायल लोगों का हालचाल जाना और उनका मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि घबराने का जरूरत नही है, भीम आर्मी आप लोगों के साथ है।

 

प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार जांगडे ने प्रेस को बताया कि कवर्धा पुलिस ने सतनामी समाज के लोगों पर हुए जानलेवा हमला को दबाने के लिए हमलावरों की रक्षा करते हुए लहूलुहान घायल सभी लोगो के खिलाफ ही FIR दर्ज कर की है और 3 लोगों को जेल भेज दिया गया है।

धरमपुरा गांव में सतनामी समाज के लोगो को जातिगत भेदभाव करते हुए गांव के ही दूसरे समाज के लोगों ने जीना मुहाल कर दिया है। यह खूनी घटना आज की नही है, बल्कि आज 3 वर्ष हो गया लगातार जानलेवा हमला हो रहा है। बाकी 3 घायल लोगों का इलाज कवर्धा जिला के सूर्यकांत भारती हॉस्पिटल में चल रहा है।

 

उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की निष्पक्ष जांच नही करती है तो भीम आर्मी अपने समाज के साथ मिलकर कवर्धा जिला बंद के साथ मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेगी।

 

 

 

 

Deadly attack on the people of Satnami society, State President of Bhim Army reached Kawardha

 

Raipur | [Chhattisgarh Bulletin] | In the Dharampura village under Kawardha, the people of Satnami community opposed the formation of Gauthan by the sarpanch in place of Jaitkham established over the years, and on July 11, 2022, people from another community of the village allegedly used iron rods, knives and sticks. Entering the house of the people of Satnami society, attacked 5 people fatally. Those injured in the attack were taken to Pipariya Community Health Center for treatment. It is alleged that Bedram’s father Devcharan and Kunjal’s father Sadaram were killed by two unidentified persons in Pipariya Hospital by closing the door.

 

On hearing the news of the deadly attack on the Satnami community, Bhim Army’s state president Rajkumar Jangde arrived with his team. The Collectorate of Kawardha district, along with the people of the society, submitted a written memorandum to the Collector and the Superintendent of Police.

Expressing deep displeasure, Bhim Army State President Rajkumar Jangde said that the deadly attack on the Satnami community in Dharampura for three consecutive years is not stopping. After all, why blood of people of Satnami community is being shed.

 

In the memorandum, the Bhim Army has demanded immediate action by apprehending all the attackers. Otherwise, Bhim Army Chief Rajkumar Jangde along with his society will get Kawardha district closed for justice.

 

He went straight to the hospital from the collectorate. While visiting all the injured people and boosting their morale, said that there is no need to panic, Bhim Army is with you.

State President Rajkumar Jangde told the press that to suppress the deadly attack on the people of Satnami community, the Kawardha Police has registered an FIR against all the people who were injured while protecting the attackers and 3 people have been sent to jail. .

 

In Dharampura village, the people of other communities of the village have made life difficult while discriminating the Satnami community on the basis of caste. This bloody incident is not of today, but today it has been 3 years since there is a continuous deadly attack. The remaining 3 injured people are being treated at Suryakant Bharti Hospital in Kawardha district.

He said that if the police does not investigate the matter impartially, then Bhim Army along with its society will gherao the Chief Minister’s residence along with Kawardha district bandh.

 

 

 

नगर पंचायत मारो में धनवंतरी मेडिकल स्टोर का शुभारंभ

 

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button