.

श्रीकृष्ण जन्मभूमि केस: आगरा किले से विग्रह को निकलवाने की मांग, दिया प्रार्थनापत्र shreekrshn janmabhoomi kes: aagara kile se vigrah ko nikalavaane kee maang, diya praarthanaapatr

आगरा | [कोर्ट बुलेटिन] | आगरा किला परिसर में मस्जिद की सीढ़ियों के नीचे से ठाकुर केशवदेव और 4 अन्य विग्रहों (मूर्ति) को निकलवाने का मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है। हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच के अधिवक्ता ने दावा किया है कि आगरा किले की मस्जिद के नीचे ठाकुर केशवदेव और 4 अन्य विग्रह हैं। उन्होंने इन विग्रहों को निकलवाने की मांग को लेकर हाईकोर्ट में प्रार्थनापत्र दिया है। इस प्रार्थना पत्र में मथुरा की शाही ईदगाह मस्जिद के आर्किलॉजिकल सर्वे की मांग भी की गई है। कहा गया है कि इस संबंध में उनके द्वारा करीब एक वर्ष पूर्व मथुरा में सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में प्रार्थना पत्र दिया है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो सकी है।

 

अधिवक्ता वरुण कुमार मिश्रा की ओर से दाखिल प्रार्थना पत्र में दावा किया गया कि मथुरा में औरंगजेब द्वारा जिस समय मंदिर को तुड़वाकर शाही ईदगाह मस्जिद का निर्माण कराया था, उस समय मंदिर के ठाकुर केशवदेव के विग्रह (मूर्ति) व अन्य 4 और विग्रहों को आगरा किले की मस्जिद की सीढ़ियों की नीचे दबवा दिया था।

 

अधिवक्ता शैलेंद्र सिंह ने बताया कि उनके द्वारा 14 अप्रैल 2021 को मथुरा के सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में प्रार्थना पत्र दिया था। जिसमें अधिवक्ता वरुण कुमार मिश्रा भी वादीगण में से ही एक हैं। इस प्रार्थना पत्र में उन्होंने इन विग्रहों को निकलवाने और मथुरा की मस्जिद के आर्किलॉजिकल सर्वे कराने की मांग की थी, लेकिन न्यायालय द्वारा अभी तक संज्ञान नहीं लिया गया है।

 

सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में मंगलवार को श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति न्यास के अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह, अधिवक्ता राजेंद्र माहेश्वरी और नारायणी सेना के अध्यक्ष मनीष यादव के प्रार्थना पत्रों पर सुनवाई होनी है।

 

एडवोकेट राजेन्द्र माहेश्वरी ने 26 मई को अवर न्यायालय में कोर्ट कमीशन की मांग को लेकर प्रार्थना पत्र दिया था। सिविल जज सीनियर डिवीजन ने 1 जुलाई की तारीख तय की थी। इसे लेकर वह जिला जज की अदालत में रिवीजन में गए। जिला जज की अदालत से इसकी सुनवाई एडीजे सप्तम की अदालत में हुई। एडीजे सप्तम ने इसकी सुनवाई प्रतिदिन किए जाने के का आदेश दिया है।

 

नारायणी सेना के अध्यक्ष मनीष यादव ने ईदगाह परिसर के कोर्ट कमीशन सर्वे की मांग अदालत से की थी। इस संबंध में मंगलवार को सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में सुनवाई होगी। इस संबंध में वह हाईकोर्ट भी गए हैं। जहां से पूरे मामले को चार माह के अंदर निस्तारित करने के आदेश हुए हैं।

 

आगरा किला

 

Shri Krishna Janmabhoomi Case: Demand for removal of Deity from Agra Fort, application given

 

Agra | [Court Bulletin] | The matter of getting Thakur Keshavdev and 4 other deities (deities) out of the steps of the mosque in Agra Fort complex has reached the High Court. Advocate for Lucknow Bench of High Court has claimed that there are Thakur Keshavdev and 4 other Deities under the mosque of Agra Fort. He has given an application in the High Court demanding the removal of these Deities. In this application, a demand has also been made for the archaeological survey of the Shahi Idgah mosque of Mathura. It has been said that in this regard, he has given an application in the court of Civil Judge Senior Division in Mathura about a year ago, but no hearing has been held.

 

In the application filed by advocate Varun Kumar Mishra, it was claimed that at the time when Aurangzeb demolished the temple in Mathura and built the Shahi Idgah Masjid, the idol of Thakur Keshavdev of the temple and 4 other Deities were taken to Agra. The fort was buried under the steps of the mosque.

 

Advocate Shailendra Singh told that on 14 April 2021, he had given an application in the court of Civil Judge Senior Division of Mathura. In which advocate Varun Kumar Mishra is also one of the plaintiffs. In this application, he had demanded the removal of these deities and an archaeological survey of the Mathura mosque, but the court has not taken cognizance yet.

 

On Tuesday, in the court of Civil Judge Senior Division, the applications of Advocate Mahendra Pratap Singh, President of Shri Krishna Janmabhoomi Mukti Nyas, Advocate Rajendra Maheshwari and Narayani Sena President Manish Yadav are to be heard.

 

Advocate Rajendra Maheshwari had given an application in the lower court on 26 May for the demand of court commission. The date of July 1 was fixed by the Civil Judge Senior Division. With this, he went to the district judge’s court for revision. It was heard from the court of the District Judge in the court of ADJ VII. ADJ VII has ordered for its hearing to be held daily.

 

Narayani Sena President Manish Yadav had demanded a court commission survey of the Idgah complex from the court. A hearing in this regard will be held in the court of Civil Judge Senior Division on Tuesday. He has also gone to the High Court in this regard. From where orders have been given to dispose of the entire matter within four months.

 

 

दलित महिला से सरेराह अश्लीलता की कोशिश, विरोध पर पिटाई, वीडियो वायरल dalit mahila se sareraah ashleelata kee koshish, virodh par pitaee, veediyo vaayaral

 

 

Related Articles

Back to top button