.

व्हाट्सएप गोपनीयता नीति नहीं ली गई वापस, जांच की मिले अनुमति: प्रतिस्पर्धा आयोग vhaatsep gopaneeyata neeti nahin lee gaee vaapas, jaanch kee mile anumati: pratispardha aayog

नई दिल्ली | [कोर्ट बुलेटिन] | CCI (भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग) ने सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि whatsapp (व्हाट्सएप) की संशोधित गोपनीयता नीति 2021 वापस नहीं ली गई है और इस संबंध में उसकी जांच को जारी रखने देना चाहिए। पीठ ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना आदेश सुरक्षित रख लिया है। पीठ में दूसरे सदस्य जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद हैं।

 

CCI (भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग) ने यह भी कहा कि उसकी जांच का दायरा सर्वोच्च न्यायालय में लंबित उपयोगकर्ता की गोपनीयता के कथित उल्लंघन के मुद्दे में अतिक्रमण नहीं करता है।

 

CCI (भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग) ने व्हाट्सएप एलएलसी और फेसबुक इंक द्वारा एकल जज के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई कर रही मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष अपना पक्ष रखा।

 

एकल जज वाली पीठ ने व्हाट्सएप की संशोधित गोपनीयता नीति के मामले में सीसीआई द्वारा जांच करने का आदेश दिए जाने को उनकी चुनौती को खारिज कर दिया था।

 

©Delhi Highcourt logo

 

WhatsApp privacy policy not withdrawn, permission to investigate: Competition Commission

 

New Delhi | [Court Bulletin] | The CCI (Competition Commission of India) on Monday told the Delhi High Court that the revised Privacy Policy of WhatsApp 2021 has not been withdrawn and its investigation in this regard should be allowed to continue. The bench has reserved its order after hearing both the sides. The other member in the bench is Justice Subramaniam Prasad.

 

The CCI (Competition Commission of India) also said that the scope of its investigation does not encroach into the issue of alleged breach of user’s privacy pending in the Supreme Court.

 

The CCI (Competition Commission of India) presented its stand before a bench headed by Chief Justice Satish Chandra Sharma hearing a petition challenging the single judge’s order by WhatsApp LLC and Facebook Inc.

 

A single-judge bench had dismissed his challenge to the CCI ordering an inquiry into the revised privacy policy of WhatsApp.

 

 

कार्यपालिका को क्या लगता है न्यायपालिका छोटा बच्चा है?, बॉम्बे हाईकोर्ट की फटकार kaaryapaalika ko kya lagata hai nyaayapaalika chhota bachcha hai?, bombe haeekort kee phatakaar

 

 

Related Articles

Back to top button