.

रूस सहित दुश्मन देशों से “सीमा सुरक्षा” के लिए ड्रोन दीवार स्थापित करने का निर्णय लिया : NATO

रूस  
रूस के यूक्रेन पर जारी हमलों के बीच 6 नाटो देशों ने बड़ा कदम उठाया है ।  रूस  सहित दुश्मन देशों से "सीमा सुरक्षा" के लिए  लिथुआनिया, लातविया, एस्टोनिया, पोलैंड, फ़िनलैंड और नॉर्वे सहित NATO  देशों ने "ड्रोन दीवार" स्थापित करने का निर्णय लिया है।  "ड्रोन दीवार" नॉर्वे से पोलैंड तक फैलेगी, जिससे शत्रुतापूर्ण देशों (रूस) द्वारा तस्करी और उकसावे के खिलाफ सीमा सुरक्षा बढ़ेगी।

लिथुआनियाई आंतरिक मंत्री, एग्ने बिलोटेइट ने कहा कि "यह एक  तरह से नई चीज़ है।  उन्होंने कहा कि नॉर्वे से पोलैंड तक फैली एक 'ड्रोन दीवार', और लक्ष्य हमारी सीमाओं की रक्षा के लिए ड्रोन और अन्य प्रौद्योगिकियों का उपयोग करना है।"  इस पहल का उद्देश्य ड्रोन और एंटी-ड्रोन सिस्टम का उपयोग करके अपनी सीमाओं की रक्षा करना है।

इससे एक दिन पहले ही NATO  यूक्रेन को रूस की लाल रेखा को पार करने के लिए हरी झंडी दे दी है। रॉयटर्स के अनुसार यूनाइटेड किंगडम के विदेश सचिव डेविड कैमरन ने कीव की यात्रा के दौरान कहा है कि यूक्रेन को लंदन से प्राप्त हथियारों के साथ रूसी क्षेत्र पर लक्ष्य पर हमला करने के लिए स्वतंत्र  है। कैमरन ने कीव में सेंट माइकल कैथेड्रल के बाहर कहा, "यूक्रेन के पास यह अधिकार है कि वह अपनी रक्षा सुनिश्चित कर सके।"  

 


Back to top button