.

जगदलपुर में 72 घंटे तक चली मुठभेड़ में आठ माओवादी ढेर और चार गिरफ्तार

जगदलपुर.

जगदलपुर में रेकावाया के जंगल में माड़ डिवीजन और पूर्वी बस्तर डिवीजन के के तहत इंद्रावती एरिया कमेटी के DVCM दीपक, कमलाकर, सपना उर्फ सपनक्का, प्लाटून नंबर 16 का कमांडर मल्लेश के साथ 50-60 सशस्त्र नक्सलियों की सूचना पर ऑपरेशन जलशक्ति के अंतर्गत जिला दंतेवाड़ा DRG, नारायणपुर DRG, बस्तर DRG एवं बस्तर फाइटर तथा एसटीएफ़ के सुरक्षाबलो का संयुक्त ऑपरेशन भेजा गया। जहाँ 72 घंटों तक चले ऑपरेशन में पुलिस ने आठ नक्सलियों को मार गिराया। वहीं वापसी के दौरान नक्सलियों के द्वारा लगाए गए आईडी को डिफ्यूज करने के साथ ही कुछ नक्सलियों को पकड़ा भी गया।

मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारियों ने बताया की जिला दंतेवाड़ा-बीजापुर- नारायणपुर के सीमावर्ती क्षेत्र हांदावाड़ा रेकावाया के बीच पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। 23 मई के सुबह 11 बजे से 24 मई के सुबह 9 बजे तक लगभग 7-8 बार रुक रुककर दोनों ओर से फायरिंग चलती रही, घटना के बाद पुलिस ने इलाके की सर्चिंग में 8 वर्दीधारी नक्सलियों के शवों के भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद किया है। ग्राम रेकावाया के जंगल में नक्सलियों के द्वारा बनाये गए अस्थाई ट्रेनिंग कैम्प को भी ध्वस्त किया गया। 23 मई की सुबह 11 बजे गश्त के दौरान सुरक्षाबलों पर नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू की जवानों ने भी मुस्तैदी से मोर्चा सम्भाला और आठ माओवादियों को ढेर कर दिया। इस मुठभेड़ में कई नक्सली घायल भी हुए हैं जिन्हे उनके साथी नक्सली घने जंगल और पहाड़ों का फायदा उठाकर ले जाने में सफल हुए। 24 मई को पुलिस टीम जब वापस आ रही थी तभी जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सलियों ने 15 किलो का आईईडी भी लगाया था, जिसे जवानों के द्वारा नष्ट किया गया।

आज पुलिस फोर्स के सर्चिंग से लौटते समय चार नक्सली गिरफ्तार किए गए हैं। इसके साथ ही फोर्स ने आईडी डिफ्यूज किया। भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक सामग्री बरामद की। आज मुठभेड़ में कोई नक्सली मारे नहीं गए हैं, कल जो मुठभेड़ हुई थी उसमें आठ नक्सली मारे गए थे।


Back to top button