.

इजरायल की 5 महिला सैनिकों के परिवार ने हमास के आतंकियों द्वारा उनका अपहरण किए जाने का वीडियो जारी किया

तेल अवीव
इजरायल की 5 महिला सैनिकों के परिवार ने बीते साल हमास के आतंकियों द्वारा उनका अपहरण किए जाने का वीडियो जारी किया है। ये वीडियो 7 अक्टूबर को हमास के आतंकी हमले के दौरान इजरायल के नाहल बेस पर महिला सैनिकों को बंदी बनाए जाने और उन्हें अपहरण करके गाजा ले जाए जाने का है। वीडियो में इजरायल रक्षा बल (IDF) की ये सभी महिलाएं दीवार के सामने खड़ी दिखाई दे रही हैं। उनके हाथ बंधे हुए हैं। कुछ महिला सैनिकों चेहरे पर चोट लगी है और खून लगा हुआ है। 3 मिनट 10 सेकंड का ये वीडियो हमास आतंकवादियों के बॉडी कैमरे से शूट किया गया है।
हमास के 7 महिला सैनिकों को किया था अगवा

बंधक परिवारों के फोरम ने बताया कि वीडियो जारी करने का फैसला उन पांच महिला सैनिकों के परिवारों ने लिया है, जो अभी भी हमास के पास कब्जे में हैं। इन महिला सैनिकों के नाम लिरी अलबाग, करीना एरीव, अगम बर्गर, डेनिएला गिल्बोआ और नामा लेवी हैं। 7 अक्टूबर के हमले के दौरान हमास के आतंकवादियों ने नाहल बेस से 7 महिला सैनिकों को अगवा कर लिया था। ये निगरानी की भूमिका में थीं। ओरी मेगिडिश को अक्टूबर में ही आईडीएफ ने सुरक्षित बचा लिया था, जबकि नोआ मार्सियानों को हमास ने कैद में मार डाला था। आईडीएफ ने नवम्बर में उनका शव में बरामद किया था।

महिलाओं को रेप की धमकी

वीडियो की शुरुआत बेस पर एक शेल्टर के अंदर होती है, जहां हमास के आतंकवादी निगरानी सैनिकों के हाथ बांध रहे होते हैं। इस दौरान महिलाएं खून से लथपथ, हैरान और डरी नजर आती हैं। इस दौरान एक आतंकवादी उन पर चिल्लाता है, 'तुम कुत्तों को हम कुचल देंगे।' वीडियो में हमास के आतंकी महिलाओं को रेप की धमकी देते नजर आते हैं। जब महिलाएं हाथ बंधे हुए शेल्टर के अंदर जमीन पर बैठी होती हैं तो एक आतंकी बंधकों की तरफ इशारा करते हुए कहता है कि 'ये वो महिलाएं हैं जो प्रेग्नेंट हो सकती हैं।'

'तुम बहुत खूबसूरत हो'

एक महिला सैनिक की तरफ देखकर आतंकी कहता है कि 'तुम बहुत खूबसूरत हो।' जबकि दूसरा कहता है कि 'ये यहूदी हैं।' इस दौरान लिवी नामक सैनिक कहती है कि 'उसके फिलिस्तीन में दोस्त हैं।' इसके बाद लिरी अलबाग पूछती है कि 'क्या कोई अंग्रेजी बोलता है?' जिस पर आतंकी चिल्लाते हुए बंधक महिलाओं को चुप होने और जमीन पर बैठने को कहता हैं। एक आतंकी चिल्लाते हुए कहता है कि 'हमारे भाई तुम्हारी वजह से मारे गए। हम तुम सभी को मार देंगे।'

वीडियो के आखिर में आतंकवादी सैनिकों को बाहर निकालकर गाड़ी में ले जाते दिखाई दे रहे हैं, जबकि बैकग्राउंड में लगातार गोलियों की आवाज सुनाई दे रही है। एक सैनिक पैर में चोट लगने के चलते लंगड़ाकर चल रही है। इसके बाद वीडियो में दिखाया गया है कि महिला सैनिक गाड़ी के अंदर हैं और आतंकवादी उन पर चिल्ला रहे हैं।

वीडियो के बारे में बताते हुए बंधक परिवारों के फोरम ने कहा, 'उनकी आंखों में देखो। यह वीडियो देश की विफलता का सबूत है।' फोरम ने यह भी कहा कि ये वीडियो दिखाता है कि अपहरण के दिन महिलाओं के साथ किस तरह का हिंसक और अपमानजनक व्यवहार किया गया। उनकी आंखों में डर झलक रहा था। इसने आगे कहा, 'हमें उन सभी को अब वापस घर लाना होगा।'

नेतन्याहू ने वीडियो को बताया भयावह

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि वह फुटेज देखकर 'भयभीत' थे और उन्होंने बंधकों को वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास करने की कसम खाई। उन्होंने एक्स पर लिखा, 'हमास आतंकवादियों की क्रूरता ने मेरे दृढ़ संकल्प को और मजबूत कर दिया है कि मैं हमास के सफाए तक पूरी ताकत से लड़ूंगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि जो हमने आज शाम देखा वह फिर कभी न हो।'


Back to top button