.

मछली का तेल और दिमागी स्वास्थ्य: जानें इसके फायदे

हमारी अच्छी सेहत और मसल्स के लिए गुड फैट भी जरूरी है, जिसमें से एक फिश ऑयल भी है। यह मछली खाने या फिश ऑयल सप्लीमेंट लेने से प्राप्त होता है।फिश ऑयल एक प्रकार का फैट है, जिसे विभिन्न नस्लों वाली मछलियों से निकाला जाता है।

इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड नाम का हाई एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। जो एक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट है और यह कई बीमारियों से बचाने के साथ आपकी स्किन हेल्थ के लिए भी अच्छा है।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार ओमेगा-3 फैटी एसिड लेना आपके दिल के स्वास्थ्य, ब्रेन हेल्थ और बहुत सारी अन्य स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है। जैसा कि यह एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट है, जो आपके शरीर को रोगों और संक्रमण से बचाने में मदद कर सकता है। आइए जानते हैं फिश ऑयल के बारे में।

रोजाना सेवन की सलाह

एक उम्र के बाद फिश ऑयल के इस्तेमाल की सलाह डॉक्टर भी देते हैं। मछली के तेल आपको ऑयल और कैप्सूल के रूप में आती है। डब्ल्यूएचओ संयुक्त ईपीए और डीएचए के 0.2–0.5 ग्राम (200-500 मिलीग्राम) के दैनिक सेवन की सलाह देते हैं।

कम होता है हृदय रोग का खतरा

मछली के तेल में दो सबसे महत्वपूर्ण गुण ओमेगा-3 फैटी एसिड, इकोसापेंटेनोइक एसिड और डोकोसाहेक्सैनोइक एसिड पाए जाते हैं। जो ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर, कोलेस्ट्रॉल को कम करने में एक दवा के रूप में काम करते हैं। इससे हृदय रोग का खतरा भी कम होता है।

किडनी स्वास्थ्य के लिए अच्छा

मछली के तेल का उपयोग किडनी से जुड़ी कई समस्याओं के लिए भी किया जाता है।ओमेगा-3 फैटी एसिड किडनी के स्वास्थ्य को सुधारने में मदद कर सकता है।

सांस की समस्या होती है दूर

कुछ अध्ययनों में यह भी पाया गया है कि ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन सांस संबंधी समस्याओं को कम करने में मदद कर सकता है। विशेष रूप से, ओमेगा-3 फैटी एसिड जैसे कि इकोसापेंटाइनिक एसिड और डोकोसैक्सिनोइक एसिड, जो अपने विभिन्न फायदों के लिए जाने जाते हैं।

ब्रेन हेल्थ के लिए अच्छा है

ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है। यह डिप्रेशन और अवसाद को कंट्रोल करने में मदद करता है।


Back to top button