.

बेंगलुरु में रह रहे ललितपुर के वोटर को बुलाने के लिए दिया फ्लाइट टिकट

झांसी
 उत्तर प्रदेश के झांसी में वोटिंग को बढ़ाने की योजना पर खूब काम किया गया। ललितपुर के तीन बूथों ने इस चुनाव में रिकॉर्ड बना दिया। झांसी लोकसभा सीट के ललितपुर में 100% मतदान करवाने के लिए सरकारी मशीनरी ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया। किसी को हवाई जहाज का टिकट भेजकर मतदान के लिए गांव बुलाया तो किसी को गृह मंत्रालय के अधिकारियों से बात कर मतदान के लिए छुट्टी दिलवाई गई। इस प्रयास से जिले के तीन बूथों पर 100% मतदान का रेकॉर्ड बना। जिला प्रशासन ने 72 बूथों पर 100% मतदान का प्रयास किया था, जिसमें तीन बूथों पर अफसरों ने सफलता हासिल की। प्रशासनिक प्रयासों के कारण झांसी में 63.70 फीसदी वोटिंग हुई।

ललितपुर के डीएम और जिला निर्वाचन अधिकारी अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि ललितपुर की महरौनी विधानसभा स्थित बूथ संख्या 277, 355 और 195 पर 100% मतदान हुआ है। बूथ संख्या 277 सौल्दा गांव के प्राथमिक विद्यालय में बनाया गया था। यहां 198 पुरुष और 177 महिला मतदाता समेत कुल 375 मतदाता हैं। बूथ संख्या 355 बम्हौरीनांगल में कुल 441 मतदाता (235 पुरुष, 206 महिला) हैं, जिन्होंने शत प्रतिशत मतदान किया। गांव बुदनी नाराहट स्थित बूथ संख्या 195 में 215 मतदाता (116 पुरुष व 99 महिला) हैं, जिन्होंने शत प्रतिशत मतदान किया।

डीएम ने लगा दिया पूरा जोर

सौल्दा गांव का एक वोटर शेर सिंह बेंगलुरु में था। उसकी वजह से 100% मतदान में रुकावट आ रही थी। BDO, BLO और अन्य कर्मचारियों ने ग्रामीणों की मदद से शेर सिंह की फ्लाइट के टिकट का इंतजाम कर उन्हें पहले भोपाल बुलवाया। फिर वहां से सरकारी गाड़ी में उन्हें मतदान के लिए सौल्दा लाया गया। इसी तरह बम्हौरी नांगल के जयदीप दिल्ली में गृह मंत्रालय में अडिश्नल प्राइवेट सेक्रेटरी के पद पर कार्यरत हैं। 20 मई को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण में उनकी ड्यूटी लगी थी।

डीएम ने गृह मंत्रालय के अधिकारियों से बात कर उनके प्रशिक्षण की तारीख बदलकर मतदान के लिए छुट्टी देने की गुजारिश की, जिसे मान लिया गया। इसके अलावा इंदौर से 30 श्रमिकों को बसों और अन्य वाहन से मतदान के लिए ललितपुर बुलवाया गया। 100% मतदान को लेकर गांव वाले काफी उत्साहित दिखे और उन्होंने इस उपलब्धि पर जश्न भी मनाया।

एक माह से चल रही थी तैयारी

झांसी में चुनावी माहौल के बीच प्रशासन ने वोटिंग को लेकर खूब तैयारी की। ललितपुर के तीन गांवों को 100 फीसदी पोलिंग के लिए चुना गया। इन गांवों में सौलदा, बम्हौरी नागलऔर बुधनी नरहट गांव में 100 फीसदी मतदान कराया जाना था। मध्य प्रदेश से सटे इन गांवों ने सोमवार को पांचवें चरण के चुनाव के दौरान 100 फीसदी वोटिंग का रेकॉर्ड बन गया।

बीडीओ ने दी पूरी जानकारी

बीडीओ सौरभ बरनवाल में कहा कि प्रशासन ने रेकार्ड बनाने के लिए बड़े स्तर पर प्रयास किया। मैन टु मैन मार्किंग की गई। हमें एक वोटर 25 वर्षीय शेर सिंह को बारे में जानकारी मिली। वह बेंगलुरु में नौकरी करता है। उसके पास इतने पैसे नहीं थे कि वह गांव लौट सके। ऐसे में ग्राम सचिव तुषार कटारिया, ग्राम रोजगार सेवक करण यादव, बीएलओ राजेश कुमार, पूर्व प्रधान पुत्र गोलू यादव और स्थानीय नेता जानकी बाई ने शेर सिंह के लिए एयर टिकट की व्यवस्था की। उसके लिए पैसे जुटाए गए।

दिल्ली में रह रहे 24 वर्षीय जयदीप को बुलाने के लिए भी बड़े स्तर पर प्रयास किया गया। वह गृह मंत्रालय में जॉइंट सेक्रेटरी के यहां स्टेनोग्राफर की नौकरी करता है। उसे छुट्टी दिलवा कर बुलवाया गया। बीडीओ ने कहा कि हमारे लिए हर वोट जरूरी था। सौलदा में 177 महिलाओं के साथ 375 वोटर, बम्हौरी नांगल में 206 महिलाओं के साथ 441 वोटर और बुधनी नरहट में 99 महिलाओं के साथ 215 वोटरों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

 


Back to top button