.

उज्जैन में युवती की तबीयत बिगड़ने से मौत मृतका ने खंडवा में ब्लैकमेल और दुष्कर्म का आवेदन दिया था

उज्जैन

 नीलगंगा थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि 27 वर्षीय युवती बस से इंदौर की ओर अपने साथियों के साथ जा रही थी, उसकी अचानक तबियत बिगड़ी और अस्पताल ले जाते समय ही उसकी मौत हो गई। प्राथमिक परीक्षण पर डॉक्टर ने बताया था कि युवती की मौत शुगर बढ़ने के कारण हो गई है। पूछताछ करने पर पुलिस को पता चला था कि युवती इंसुलिन का उपयोग करती थी इसीलिए नीलगंगा थाना पुलिस भी अब तक इस मामले को सामान्य मौत ही मान रही थी। लेकिन, इस मामले में नया मोड़ उस समय आ गया जब पता चला कि मृतका और उसकी सहेलियों ने कुछ समय पहले खंडवा के एक थाने मे दुष्कर्म और ब्लैकमेल किए जाने का एक आवेदन दे रखा था।

नीलगंगा थाने की एसआई वर्षा सोलंकी ने बताया कि खंडवा निवासी सुनीता (परिवर्तित नाम) अपनी कुछ सहेलियों और एक अन्य युवक के साथ उज्जैन से इंदौर की ओर बस से जा रही थी, तभी हरिफाटक ओवर ब्रिज के समीप अचानक सुनीता की शुगर बढ़ने के कारण तबीयत खराब हुई। जिसे तुरंत जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। एसआई वर्षा सोलंकी ने बताया कि इस मामले में पोस्टमार्टम करवाने के बाद मामले में मर्ग कायम करते हुए युवती का शव उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया था।

मामले मे भले ही नीलगंगा थाना पुलिस ने मर्ग कायम करने की कार्यवाही की हो, लेकिन खंडवा के मोघट रोड पुलिस थाने में मृतका और उसकी सहेलियों ने सिद्धार्थ जैन नामक युवक के खिलाफ दुष्कर्म और ब्लैकमेल किए जाने जैसा आवेदन दे रखा है। एसआई ने इस तरह की कोई भी जानकारी अभी अपने पास न होने की बात कही।

जयपुर मनाली टूर से आ रही थीं युवतियां
बताया जाता है कि यह युवतियां जयपुर, मनाली टूर से खंडवा की ओर लौट रही थीं। इस टूर में कुल पांच युवतियां और एक युवक शामिल था। उज्जैन में सुनीता की मौत के बाद यह लोग यहां से चले गए थे। लेकिन इन्होंने नीलगंगा थाने एसआई वर्षा सोलंकी को मृतका के परिजनों के मोबाइल नंबर जरूर दे दिए थे, जिसके माध्यम से पुलिस मृतका के परिजनों तक पहुंची और उन्हें उज्जैन बुलाकर शव उनके सुपुर्द कर दिया था।

थाना प्रभारी बोले –  खंडवा के आवेदन की कोई जानकारी नहीं
इस मामले में नीलगंगा थाना प्रभारी विवेक कनोडिया से जब चर्चा की गई तो उनका कहना था कि उज्जैन में इस पूरे मामले में सिर्फ और सिर्फ युवती की मौत हुई थी। वह भी शुगर बढ़ने के कारण। जिसको लेकर थाने में मर्ग कायम किया गया है, लेकिन अगर खंडवा के मोघट थाने में इस मामले से जुड़ा कोई आवेदन दिया गया है तो इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है।

खंडवा थाने में की गई है कुछ इस प्रकार की शिकायत
सोर्स बताते हैं कि इस मामले में खंडवा के मोघट थाने मे मृतका और उसकी सहेलियों ने एक शिकायती आवेदन दिया था, जिसमें इन युवतियों ने ऑनलाइन जॉब दिलाने के बहाने उन्हें फंसाने और दुष्कर्म और ब्लैकमेल करने का आरोप सिद्धार्थ जैन नामक युवक पर लगाया था। बताया जाता है कि पुलिस इस आवेदन पर कार्रवाई कर ही रही थी कि इस दौरान खंडवा निवासी सुनीता की मौत हो गई। वैसे सुनीता की मौत को अभी शुगर बढ़ने के कारण होना माना जा रहा है लेकिन कहीं ना कहीं पुलिस इस आवेदन को लेकर भी पूरे मामले की नए सिरे से जांच जरूर करेगी।


Back to top button