.

पुणे केस में विधायक सुनील तिंगरे ने कहा कि मैंने हमेशा पब और बार के खिलाफ स्टैंड लिया ……

पुणे

पुणे पोर्श कार ऐक्सीडेंट (Pune Porsche Car Accident) मामले में नया अपडेट सामने आया है. अजित पवार के नेतृत्व वाली NCP के विधायक सुनील तिंगरे 19 मई की रात को येरवडा पुलिस स्टेशन में मौजूद थे. विपक्ष के मुताबिक टिंगरे पुलिस पर दबाव बना रहे थे. सुनील तिंगरे ने इन आरोपों पर सफाई दी है. उन्होंने कहा कि सुबह 3:21 बजे मेरे पीए की तरफ से फोन आया कि एक बड़ा हादसा हो गया है. इसके बाद कई कार्यकर्ताओं और विशाल अग्रवाल की भी कॉल मेरे पास आई.

विशाल अग्रवाल ने बताया कि मेरे बेटे को कुछ लोगों ने पीटा है. इसके बाद मैं पुलिस स्टेशन पहुंचा. फिर पुलिस ने मुझे सूचना दी. इसके बाद मैंने पुलिस से कानून के मुताबिक कार्रवाई करने को कहा. मैंने मृतक के परिजनों से भी बात की.

सुनील तिंगरे ने कहा कि मैंने हमेशा पब और बार के खिलाफ स्टैंड लिया है. राजनीतिक में आने से पहले मैं विशाल अग्रवाल के साथ काम करता था. यही उनके और मेरे बीच का रिश्ता है. मैंने मृतक के परिजनों की मदद की. मैं थाने के सीसीटीवी फुटेज खोलने की मांग करता हूं.

मामले में पुलिस ने अब तक क्या कार्रवाई की?

पुणे की एक अदालत ने मंगलवार को मामले में तीन आरोपियों- बार मालिक और रेस्टोरेंट्स के दो मैनेजर को 24 मई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है. यहां नाबालिग आरोपी ने अपने दोस्तों के साथ बैठकर शराब पी थी, उसके बाद वो कार लेकर बाहर निकला था. आरोपी कोसी रेस्टोरेंट के मालिक के बेटे नमन प्रहलाद भूतड़ा, उसके मैनेजर सचिन काटकर और ब्लैक क्लब होटल के मैनेजर संदीप सांगले को अदालत में पेश किया गया था.

पुलिस ने  सात दिन की कस्टडी की मांग की थी. पुलिस ने तर्क दिया कि आरोपियों के स्वामित्व या प्रबंधन वाले बार-रेस्टोरेंट में आरोपी लड़के और उसके दोस्तों को उनकी कम उम्र (शराब पीने की कानूनी उम्र 21 वर्ष) की पुष्टि किए बिना शराब परोसी. पुलिस ने अदालत को बताया कि उन्होंने कोसी रेस्टोरेंट के मालिक प्रल्हाद भुटाडा को नोटिस भेजा है. जरूरत पड़ने पर उनसे पूछताछ के लिए उपलब्ध रहने के लिए कहा है.

पुलिस के मुताबिक, हालांकि प्रल्हाद भूतड़ा प्रतिष्ठान का मालिक है, लेकिन वो होटल के डेली मैनेजमेंट का काम नहीं देखता है. वहीं, पुणे जिला कलेक्टर के आदेश पर राज्य उत्पाद शुल्क विभाग ने दोनों प्रतिष्ठानों को सील कर दिया है. पुलिस कमिश्नर कुमार ने बताया कि एक अन्य आरोपी जयेश बोनकर को भी गिरफ्तार कर किया गया है. ये ब्लैक क्लब होटल में कर्मचारी है

घटना के बाद क्या कर रहा है प्रशासन?

कल्याणी नगर हादसे के बाद पुणे नगर निगम अलर्ट मोड पर है. नगर निगम ने कोगेगांव पार्क में 2 और अवैध पबों पर कार्रवाई की. अवैध अतिक्रमण के उल्लंघन पर वाटर्स और ओरिला दोनों पबों को ध्वस्त कर दिया गया है. पुणे नगर निगम का कहना है कि शहर के अन्य सभी पब और बार को भी नोटिस भेजा जाएगा.


Back to top button