.

धर्मांतरण रोकना हर हिंदू भाई-बहन का है दायित्व : धमतरी में बोले सीएम साय

धमतरी.

कुरूद के ग्राम भरदा मैदान में शिव महापुराण गौरी शंकर कथा का आयोजन किया जा रहा है। मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय अपनी पत्नी कौशल्या साय के साथ कथा श्रवण करने पहुंचे। इस दौरान उनके साथ कुरूद विधायक अजय चंद्राकर भी मौजूद रहे। व्यास पीठ पर पंडित प्रदीप मिश्रा से आशीर्वाद लेने के बाद उन्होंने लोगों से धर्मांतरण रोकने के लिए अपील की है।

सीएम साय ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के अंदर जो धर्मांतरण का काम चल रहा है अगर हम सब लोग अपने प्रयास से यहां से कथा सुनकर ऊर्जा लेकर जाएं और अगर अपने प्रयास से अपने-अपने क्षेत्र में धर्मांतरण को रोक पाएं, गौ हत्या को रोक पाएं तो इस तरह से कथा सुनने की सार्थकता और बढ़ जाएगी। देश के अंदर में धर्मांतरण रोकना हम सभी हिंदू भाई-बहनों का भी दायित्व है कि हम सब लोग प्रयास करें कि अपने अगल-बगल आसपास धर्मांतरण नहीं हो। हम लोग अपने हिंदू भाइयों से लगातार संपर्क में रहें तो निश्चित रूप से धर्मांतरण पर लगाम लगेगी। व्यासपीठ से कवर्धा हादसे में मृतकों को श्रद्धांजलि देते हुए कैलाश में स्थान देने की प्रार्थना की गई। उन्होंने आगे कहा कि कहा कि यह छत्तीसगढ़ का सौभाग्य है कि माता कौशल्या की धरती पर इतनी बड़ी शिव पुराण कथा के आयोजन में पूज्य प्रदीप मिश्रा पहुंचे हैं। इसके लिए बहुत- बहुत धन्यवाद करता हूं। दूरदराज से लाखों की संख्या में यहां पर हम सब लोग उपस्थित हो पा रहे हैं। वैसे तो छत्तीसगढ़ माता कौशल्या की धरती है और ऋषि मुनियों का धाम है। भगवान राम ने अपने 14 साल के वनवास काल का अधिकांश समय हमारे छत्तीसगढ़ के क्षेत्र में बिताया। यही छत्तीसगढ़ है जहां पर शिवरीनारायण है, जहां पर सबरी माता का धाम है, जहां पर भगवान झूठे बेर खाए थे।


Back to top button