.

जतारा थाना पुलिस ने घर में घुसकर दी झूठा मुकदमा दर्ज करने की धमकी पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़ को दिया आवेदन

टीकमगढ़
          
टीकमगढ़ जिले अंतर्गत जतारा थाने के ग्राम पंचायत मुहारा से है।जहाँ जतारा थाने के थाना प्रभारी और पुलिसकर्मियों द्वारा दिनांक 22/05/2024 रात में करिबन 10 बजे घर में घुसकर घिनौना कार्य किया है। वैसे तो आम लोगाें की सुरक्षा करने की जिम्मेवारी पुलिस की रहती है, पुलिस जहां पीड़ित पक्ष की फरियाद सुनकर दोशियों पर निष्पक्ष कार्यवाही करने काे अंजाम दिया करती है। अब ठीक इसके विपरीत लोग पुलिस पर घर में घुसकर झूठा मुकद्दमा दर्ज कराने की धमकी को लेकर शिकायत करने के लिए मजबूर हो चुके हैं। एक ऐसा ही मामला जिले के जतारा थानांतर्गत आने वाले ग्राम मुहारा का गुरूवार के दिन 23 मई को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रकाश में आया है। मुहारा ग्राम की पीिड़ता ने गुरूवार के दिन एसपी ऑफिस पहुंच कर अपना शिकायती आवेदन देते हुए अपनी आपबीती सुनाई।

जतारा थानांतर्गत आने वाले ग्राम मुहारा की पीड़िता सरोज पत्िन थान सिंह यादव ने 23 मई को आवेदन देते हुए पुलिस अधीक्षक कार्यालय में बताया कि बीती रात 22 मई को करीब 10 बजे के आसपास जतारा थाना प्रभारी अपने पांच आरक्षकों के साथ उसके घर पहुंचे और सभी पुलिस कर्मी पीिड़ता के परिवार वालों को अभद्र गालियां देने लगे साथ ही पीड़िता के बताए अनुसार पुलिस उसके मकान का फाटक तोड़कर उसके घर में घुस गई। जहां पर आवेदिका व उसकी देवरानी सुमित्रा व अन्य परिवार के लोग सो रहे थे। पुलिस द्वारा सभी के कमरों में जाकर वहां रखा सामान फैला दिया गया। जहां पीड़िता के ससुर जशरथ यादव सो रहे थे। उन्हें भी गालियां पुलिस द्वारा दी गई। ऐसे आरोप पीड़िता ने शिकायती आवेदन में लगाए हैं। इसके अलावा कुछ आराक्षकों को नामचीन करते हुए उन पर भी गंभीर आरोप शिकायती आवेदन में पीड़िता द्वारा लगाए गए हैं। पीड़िता ने बताया कि पुलिस जाते जाते मेरे परिवारजनों को झूठे मुकद्दमें के तहत फंसाने की बात कहते हुए रफूचक्कर हो गई। पीड़ित महिला सरोज ने पुलिस अधीक्षक से उक्त संपूर्ण घटना की जांच कराई जाकर अनावेदकगण के विरूद्ध वैद्यानिक कार्यवाही कराए जाने की मांग करते हुए स्वयं के परिवार की जान-माल की सुरक्षा कराए जाने की गुहार लगाई।

शासकीय पद के दुरूपयोग का लगाया आरोप : पीड़ित महिला सरोज पत्िन थान सिंह यादव ने एसपी ऑफिस में दिए आवेदन में इसका भी उल्लेख किया है कि जब उसका पति थान सिंह व देवर राजू घर पर नहीं थे तो घर में बिना किसी पुरूष के होते हुए महिलाओं के अकेले में रहने पर पुलिस ने रात्रि में घर आकर अपने शासकीय पद का दुरूपयोग कर उसे व उसके परिवार को अनावश्यक रूप से परेशान किया है। उसके अलावा महिला सरोज ने बताया कि जो पुलिस जाते समय झूठे मुकद्दमें में फंसाने की बात हम लोगों से कह कर गई है यह भी शासकीय पद का दुरूपयोग होना माना जा रहा है। जिसकी जांच कराए जाना आवश्यक है। महिला ने बताया कि उक्त घटना के समय गवाह बतौर खुमान पिता नत्थन यादव व विनीश पिता थान सिंह पहुंच गए थे जिनमें घटना को देख इसकी शिकायत विनीत यादव द्वारा 181 पर कॉल कर की गई है।

क्या कहते हैं थाना प्रभारी : शिकायतकर्ता के परिवार से जुड़ा बंटी यादव नाम का एक व्यक्ति पुलिस रिकार्ड में स्थाई वारंटी है। जिसकी धरपकड़ के लिए पुलिस उसके घर दबिश देने गई थी। इससे बौखलाए परिजन पुलिस पर अर्नगल आरोप लगा रहे हैं जो गलत एवं निराधार हैं । – अरविन्द सिंह दांगी, थाना प्रभारी जतारा
ईएमएस, शैलेन्द्र सिंह बुन्देला, टीकमगढ़


Back to top button