.

भूल जाओ वादे, समझके जुमले bhool jao vaade, samajhake jumale

©श्याम निर्मोही

परिचय – बीकानेर, राजस्थान.


 

 

ख्वाबों के जाल मत बुना करो

केवल ‘मन की बात’ सुना करो

 

महंगाई का रोना-धोना छोड़ो

 

बस सरकारी फ़रमान गुना करो

 

दो वक्त की रोटी की जुगत रखो

न मिले तो मत जला भुना करो

 

भूल जाओ वादे, समझके जुमले

ऐसे ‘अच्छे दिन’ मत चुना करो

 

कहता है निर्मोही सुनो खरी-खरी

बैठ बाद में यूं सिर मत धुना करो

 

 

 

श्याम निर्मोही

Shyam Nirmohi 

 

 

 

don’t weave dreams
Just listen to ‘Mann Ki Baat’

stop worrying about inflation

just fold the government order

keep the effort of bread for two times
If you don’t get it, don’t roast it.

Forget the promises, understand the words
Don’t choose such ‘achche din’

Says Nirmohi listen really
Don’t wash your head like this after sitting

 

 

मंदिर-मस्जिद फेर में mandir-masjid pher mein

 

 

Related Articles

Back to top button