.

जिंदगी jindagee

©पुष्पराज देवहरे भारतवासी

परिचय– रायपुर, छत्तीसगढ़.


 

 

आईने में खुद को बार देखना

मन ही मन गुनगुनाना |

सब कुछ भूला देती है वो

जब चेहरा उसका देखता हूँ ||

 

नाम उसका हाथों में लिखना

फिर मिटाना फिर लिखना |

खोया खोया सा रहता हूँ

बावला हो गया हूँ ||

 

छुप – छुपकर तुम्हे देखना

फिर छुप जाना |

डर लगता है कही तुम

मुझे देख न लो ||

 

तुम्हारा चेहरा चांदनी

की तरह चमकती हुई

माथे की बिंदी |

बरसते बारिश की

बूंदो की तरह  ||

 

हवाओं को भी चैन कहाँ

बार – बार तुम्हारे बालों को छेड़ते |

तुम्हारे होंठ गुलाब के

पंखुड़ियों की तरह ||

 

तुम्हारी आँखो की गहराई

बहुत कुछ बयां करती है |

ये काले काले खुले बाल

हवाओं में लहराती हुई ||

 

दिल को सुकून मिलता है

तुम्हारा होना, जीने की|

उम्मीद जगाती है

जिंदगी क्या है ||

 

तुम्हारी होठों की मुस्कान

गाल पर काला तिल |

खूबसूरती और भी बढ़ जाती है

जब तुम मुस्कुराती हो ||

 

तुम्हारा इठलाना

सहेलियों के साथ |

बचपना तुम्हारा

खुशनुमा माहौल हो जाता है ||

 

तुम्हारा गुस्सा

चिलमिलाती धुप की तरह

तुम्हारी बातें |

दिल में बस जाती है ||

 

 

ख़ामोशी सी छा जाती है

जब – तुम मायुश हो जाती हो |

तुम्हारा न होना

पतझड़ सा लगता है ||

 

 

पुष्पराज देवहरे भारतवासी

Pushpraj Deohare Bharatwasi

 

 

Life

 

 

look at yourself in the mirror
To sing one’s heart
she forgets everything
When I see his face

write his name
then delete then write
remain lost
I’m crazy

महिला है महती इला | newsforum
READ

hide and seek you
then hide
are you scared
don’t look at me

your face moonlight
shining like
forehead dot |
raining rain
like droplets

 

where even the winds rest
Tease your hair over and over again.
your lips rose
Like petals

the depth of your eyes
Tells a lot
this dark black open hair
Waving in the wind ||

the heart rests
To be you, to live
raises hope
What is life

 

the smile on your lips
Black mole on cheek
beauty increases even more
when you smile

flaunt you
with friends
your childish
There is a pleasant atmosphere

your anger
like a shining sun
Your words
resides in the heart

silence falls
Whenever you get disappointed
your absence
Looks like a thunderbolt

 

 

मोर गोठ ल धरे नहीं mor goth la dhare nahin

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button