.

मेरा गुरूर | ऑनलाइन बुलेटिन

©सौम्या कटियार


 

 

 

मेरा देश मेरा गुरूर मेरी शान

यह देश मेरा और मैं देश के नाम

मेरे देशवासियों की जान मेरे देश पर कुर्बान

यह देश मेरा और मैं देश के नाम

देश में न जाने कितने अमर बलिदानी हुए

कुछ मशहूर हुए और कुछ गुमनाम हुए

मेरा देश मेरा गुरूर मेरी शान

शरहद पर ना जाने कितनों ने दी कुर्बानी

यूं ही नहीं मिलती आजादी

न जाने कितने वीरों ने अपनी जान गवाई

मेरा देश मेरा गुरूर मेरी शान

यह वतन मेरा जहां है

यही मेरी जां है

वतन पर शुरू वतन पर है फना है

मेरा देश मेरा गुरूर मेरी शान

यह देश मेरा और मैं देश के नाम

 

 

सौजन्य-

©रामभरोस टोण्डे, बिलासपुर, छत्तीसगढ़ 

वे डरते हैं ...
READ

Related Articles

Back to top button