.

जब आरक्षण खत्म हो जाएगा | ऑनलाइन बुलेटिन

©हरीश पांडल, विचार क्रांति, बिलासपुर, छत्तीसगढ़


 

 

आरक्षण नहीं तो

अब मंच नहीं

लोगों की पीड़ा से

नेताओं को दंश नहीं

आरक्षण के बल पर

तुम सांसद, विधायक

बनते हो

फिर पदोन्नति में

आरक्षण हो इस

मांग से क्यूं डरते हो

सोचो उस दिन

क्या होगा जब

आरक्षण पूर्ण रुप से

खत्म हो जायेगा

एसटी, एससी, ओबीसी

के लोग कैसे

सांसद, विधायक

बन पाएंगे ?

मंचों पर जाकर फूलों

की माला पहन पाएंगे

अब लोगों ने

सोच लिया है

सबने मिलकर

निर्णय किया है

जो आरक्षण की

बात करेगा

वो मंचो पर माला

पहन पायेगा

जो नेता आरक्षण

के मुद्दे पर

गांधी का तीन बंदर

बन जायेगा

ऐसे नेताओं को सभी

मंचो से

बेदखल किया जायेगा

सबने मन में ठाना है

आरक्षण नहीं तो मंच नहीं

बेशर्म नेताओं को

जनता की पीड़ा का दंश नहीं

जो आरक्षण की बात करेगा

वो मंचो पर राज करेगा

जो पदोन्नति में आरक्षण

पर खामोश रहेगा

उनको होश में आना होगा

अपने मृत जमीर

को जगाना होगा

वर्ना अपना मुंह

काला कराना होगा

आरक्षण नहीं

तो यंच नहीं

सच्चाई का अहसास

कराना होगा

प्रमोशन में आरक्षण

हमारा हक

दिलाना होगा

अभी नहीं

तो कभी नहीं

आरक्षण नहीं

तो मंच नहीं

 

नोट – पदोन्नति में आरक्षण के लिए एक प्रयास ….

गरीबी की चक्की | Onlinebulletin.in
READ

Related Articles

Back to top button