.

भगवान कृष्ण खुद अपना मंदिर बनवा लेंगे, आप निश्चिंत रहिये : सीएम हिमंता

केरल विधानसभा समिति ने आईटी पार्कों में पब खोलने को दी मंजूरी

भगवान कृष्ण खुद अपना मंदिर बनवा लेंगे, आप निश्चिंत रहिये : सीएम हिमंता

उत्तराखंड : भारी बारिश के कारण अल्मोड़ा में हाईवे पर आया मलबा, दो घंटे यातायात बंद

तिरुवनंतपुरम
 कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष के कड़े विरोध के बीच, केरल विधानसभा समिति ने राज्य में आईटी पार्कों में पब खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

सूत्रों के मुताबिक, 6 जून को आदर्श आचार संहिता खत्म हो रही है। इसके बाद केरल सरकार आईटी पार्कों में पब खोलने को हरी झंडी दे देगी।

राज्य में तिरुवनंतपुरम, कोच्चि और कोझिकोड में तीन प्रमुख आईटी पार्क हैं। इसके अलावा कोल्लम में दो छोटे और एर्नाकुलम जिले में एक पार्क है।

शुरुआत में प्रत्येक पार्क में एक पब होगा। इसे प्रमोटर या किसी व्यक्ति द्वारा सरकार से इजाजत लेकर चलाया जा सकता है।

विधानसभा समिति का हिस्सा रहे वरिष्ठ कांग्रेस विधायक तिरुवंचूर राधाकृष्णन ने कहा कि उन्होंने इस प्रस्ताव का कड़ा विरोध किया है।

उन्होंने कहा कि अब वे कहते हैं कि हर आईटी पार्क में एक पब होगा। इन पार्कों में काम करने वाले पेशेवरों की युवा जनरेशन के लिए यह अच्छा नहीं होगा। हम विधानसभा के अंदर और बाहर इसका विरोध करेंगे।

सत्तारूढ़ वाम मोर्चा के पास समिति में बहुमत था, इसलिए उन्होंने प्रस्ताव पारित कर दिया। पब के लिए आवेदन करने पर हर प्रमोटर से 20 लाख रुपये सालाना शुल्क वसूला जाएगा।

विभिन्न आईटी संगठन कई सालों से आईटी पार्कों में पब की मांग कर रहे हैं। पब की मांग सबसे पहले ओमन चांडी सरकार से की गई थी। लेकिन विरोध के डर से उन्होंने इसकी परमिशन नहीं दी। पूरे केरल में एक लाख से ज्यादा आईटी पेशेवर हैं जो इन पार्कों में काम करते हैं।

 

भगवान कृष्ण खुद अपना मंदिर बनवा लेंगे, आप निश्चिंत रहिये : सीएम हिमंता

दिसपुर
असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा ने  मीडिया से बातचीत के दौरान दो टूक कहा कि भारत में श्रीकृष्ण मंदिर और ज्ञानवापी मंदिर बनने से भाजपा को कुछ नहीं मिलेगा।

उन्होंने कहा, “भगवान कृष्ण खुद अपना मंदिर बनवा लेंगे। आखिर हम कौन होते हैं बनाने वाले? आप निश्चिंत रहिए, भगवान अपना मंदिर खुद बना लेंगे।“

उनसे सवाल किया गया था कि आखिर श्रीकृष्ण और ज्ञानवापी मंदिर बनेगा भी कि नहीं, या आप लोग ऐसे ही बयानबाजी कर रहे हैं?

असम सीएम ने केजरीवाल मामले पर कहा, “कल दिल्ली हाईकोर्ट ने खुद अपनी सुनवाई के दौरान कहा था कि सीएम केजरीवाल ने दिल्ली आबकारी नीति मामले में वो सब कुछ किया, जो कि उन्हें नहीं करना चाहिए था। यह हमारी नहीं, बल्कि न्यायालय की टिप्पणी है।“

सीएम हिमंता ने कहा, “केजरीवाल और हेमंत सोरेन कभी कांग्रेस को भ्रष्ट बताते थे, लेकिन आज दोनों एक ही मंच पर खड़े हैं। एक तरफ सभी भ्रष्ट नेता और दूसरी तरफ अकेले मोदी खड़े हैं, लेकिन अकेले मोदी ही सब पर भारी हैं।“

असम के मुख्यमंत्री लोकसभा चुनाव के बीच विभिन्न मुद्दों को लेकर 'इंडिया' ब्लॉक पर हमलावर हैं। हर चुनावी रैलियों में वह विपक्षी दलों पर जमकर बरस रहे हैं। हाल ही में बिहार के मुजफ्फरपुर में एक चुनावी रैली के दौरान उन्होंने लालू प्रसाद यादव को पाकिस्तान चले जाने की हिदायत दी थी।

वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा था कि अगर दम है, तो मुस्लिमों के खिलाफ बोलकर दिखाएं।

दरअसल, ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि राम कृष्ण मिशन के कुछ भिक्षुओं ने आसनसोल में भक्तों से भाजपा के पक्ष में वोट करने को कहा था।

 

उत्तराखंड : भारी बारिश के कारण अल्मोड़ा में हाईवे पर आया मलबा, दो घंटे यातायात बंद

नैनीताल
 उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के क्वारब में हाईवे पर  बरसाती नाले के साथ मलबा आने से यातायात ठप हो गया।

जिले में  पहाड़ी इलाकों में कई जगह जोरदार बारिश हुई। अल्मोड़ा हाईवे पर क्वारब के समीप पहाड़ी से मलबा आ गया, जिससे करीब दो घंटे तक हाईवे बंद रहा। मलबा पास की एक दुकान के भीतर भी घुस गया।

वहीं, मुक्तेश्वर में भी जोरदार बारिश हुई है। भीमताल और नैनीताल में हल्की फुहारों से राहत मिली। नैनीताल सहित आसपास के इलाकों में बुधवार सुबह से ही मौसम में नमी थी। इससे जहां तेज गर्मी से राहत महसूस हुई वहीं शाम करीब चार बजे मुक्तेश्वर, क्वारब, रामगढ़ आदि इलाकों में जोरदार बारिश हुई। इससे कई जगह सड़कों पर पानी भर गया।

भवाली-अल्मोड़ा हाईवे पर क्वारब पुल के समीप भूस्खलन के कारण गधेरे के साथ पहाड़ी से भारी मलबा आ गया। इससे हाईवे बाधित हो गया। मलबा हाईवे किनारे स्थित ग्राम प्रधान क्वारब नीमा देवी की दुकान में घुस गया। सूचना पर हाईवे खोलने के लिए जेसीबी भेजी गई।

कोश्याकुटौली के एसडीएम बी.सी. पंत ने बताया कि मौके पर जेसीबी भेजकर करीब दो घंटे बाद हाईवे से मलबा हटाया जा सका। इधर लंबे समय बाद हुई बारिश से मुक्तेश्वर, रामगढ़ क्षेत्र के किसानों ने राहत की सांस ली है।

 


Back to top button