.

मोदी परिवार घोर भ्रष्टाचारियों का समूह, वह डर के मारे भाग-भाग कर बीजेपी में जा रहे हैं – दिग्विजय सिंह

बड़वानी
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि संघ परिवार की किसी समय बड़ी इज्जत थी, लेकिन मोदी परिवार भ्रष्टाचारियों का अड्डा बन चुका है। लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए आए दिग्विजय सिंह ने बड़वानी में पत्रकारों से चर्चा की। इस दौरान कांग्रेसियों के बीजेपी में आने के बाद इसके आगामी स्वरूप के बारे में पूछे जाने पर कहा कि मोदी परिवार घोर भ्रष्टाचारियों का समूह है। जितने भी भ्रष्टाचारी हैं, वह डर के मारे भाग-भाग कर बीजेपी में जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि एक समय संघ परिवार हुआ करता था, उसकी बड़ी इज्जत थी। आज संघ परिवार चुप बैठा है और मोदी परिवार भ्रष्टाचारियों का अड्डा बन चुका है। उन्होंने कहा कि जिनको मोदी खुद भ्रष्टाचारी कहते थे, उन्हें वह मंत्री, उपमुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री बना रहे हैं।

सैकड़ो कांग्रेसियों के बीजेपी में जाने को लेकर उन्होंने कहा कि नेताओं को जाने दीजिए, संगठन नेताओं से नहीं कार्यकर्ताओं से चलता है। कार्यकर्ता कोई नहीं जा रहा है और नेता जो जा रहे हैं, वह बिकाऊ हैं। उन्होंने कहा कि हम डरने वाले नहीं हैं। यह वह लोग हैं जो भय और आतंक से लोगों को खरीद रहे हैं, डरा रहे हैं। उन्होंने पूछा इंदौर में क्या हुआ, अक्षय बम के खिलाफ क्या नहीं कहा गया, इसलिए वह डर गया।

ईवीएम को लेकर उन्होंने कहा कि मुझे ना तो इस पर पहले भरोसा था ना आज। इतना जरूर है कि अब दबाव बहुत है, गड़बड़ करने वाले पकड़े गए तो बचेंगे नहीं। मुख्यमंत्री डॉ यादव के विपक्षी दलों को भौंकने वालों की संज्ञा दिए जाने पर उन्होंने कहा कि उनके पास बहस के मुद्दे नहीं है। जिनके पास मुद्दे नहीं है, वह गाली देते हैं। इनके पास महंगाई, बेरोजगारी, अनुसूचित जनजाति के खिलाफ अत्याचारों, महिलाओं के प्रति अत्याचारों और एससी-एसटी के अधिकारों को लेकर कोई उत्तर नहीं है।

मुख्यमंत्री डॉ यादव द्वारा कांग्रेसियों को झूठे कहे जाने पर उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी कहते हैं कि अडानी-अंबानी बोरे भर-भर कर टेंपो में नोट कांग्रेस को भेज रहे हैं। क्या इससे बड़ा कोई झूठ हो सकता है? इसी तरह एक अन्य झूठ बोल रहे हैं कि कांग्रेस का घोषणा पत्र मुस्लिम लीग का है। क्या हमारे घोषणा पत्र में इसका कहीं उल्लेख है? उन्होंने कहा कि इन्हें झूठ बोलना सिखाया जाता है।

तीसरे चरण में वोट प्रतिशत बढ़ने पर कांग्रेस को नुकसान के संबंध में उन्होंने कहा वोट प्रतिशत कहीं ज्यादा तो कहीं कम बढ़ा है। यह मतदाता पार्टी और कैंडिडेट पर निर्भर करता है। कैंडिडेट का संपर्क मतदाता से कितना है, वोट परसेंट उसे पर निर्भर करता है। उन्होंने एक सवाल पर कहा कि भारतीय जनता पार्टी 400 पार तो क्या 200 पार हो जाए तो गनीमत है।


Back to top button