.

सुरक्षा व्यवस्था पर दें विशेष ध्यान – मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजन

सुरक्षा व्यवस्था पर दें विशेष ध्यान – मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजन

राजन ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक लेकर निर्वाचन की तैयारियों की समीक्षा की

भोपाल

लोकसभा निर्वाचन-2024

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने कहा है कि पुलिस अधिकारी मतदान से पहले और मतदान के दिन सुरक्षा व्यवस्था की विशेष तैयारियां सुनिश्चित करें। मतदान केन्द्रों पर पर्याप्त बल उपलब्ध रहें। जिससे मतदान में किसी भी प्रकार का व्यवधान न हो।

अवांछित तत्वों पर करें प्रतिबंधात्मक कार्रवाई

राजन ने पुलिस अधिकारियों से कहा कि चिन्हित एवं निगरानीशुदा सभी अवांछित तत्वों पर शीघ्र प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करें। गैर जमानती वारंटों की जल्द से जल्द तामीली करायें। अवैध शराब एवं गैर लायसेंसी शस्त्र जब्त करें और ऐसी किन्ही भी गतिविधियों पर सख्ती से अंकुश लगायें।

संवेदनशील क्षेत्रों पर रहें अतिरिक्त बल

राजन ने निर्देश दिये कि प्रदेश के सभी संवेदनशील क्षेत्रों (वल्नरेबल एरियास) पर विशेष ध्यान दिया जाये। चौकसी बढ़ाकर यहां आवश्यकतानुसार अतिरिक्त बल भी लगाया जाये।

नाकों को सक्रिय करें

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने प्रदेश में स्थापित किये गये अंतर्राज्यीय नाकों (इन्टर स्टेट) और राज्य के अंदर नाकों (इन्ट्रा स्टेट) की गतिविधियों की समीक्षा कर पुलिस अधिकारियों से कहा कि यह सभी नाके सक्रिय कर दिये जायें। यहां स्टॉफ की संख्या बढ़ायें और हर गतिविधि की निगरानी करें।

उड़नदस्ता और निगरानी दल रहें मुस्तैद

राजन ने कहा कि निर्वाचन के परिपेक्ष्य में तैयार किये गये उड़नदस्ता दल और निगरानी दल (एसएसटी) के मॉनिटरिंग सिस्टम को और प्रभावी बनाया जाये। उन्होंने इन दलों को मुस्तैदी से कार्रवाई करने और इनके कार्यों की रोजाना समीक्षा किये जाने के निर्देश दिये।

 पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशिक्षण दें

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजन ने निर्वाचन में संलग्न किये गये सभी पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विधिवत प्रशिक्षण देने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण में पुलिसकर्मियों को उनके पदीय कर्त्तव्यों और इन कर्त्तव्यों को पूरा करने के लिये अपनायी जाने वाली निर्धारित प्रक्रिया के बारे में भी बताया जाये।

सीमावर्ती जिलों के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बॉर्डर मीटिंग करायें

राजन ने पुलिस अधिकारियों से कहा कि सीमावर्ती राज्यों के जिला स्तर के पुलिस अधिकारियों के साथ मध्यप्रदेश के सीमावर्ती जिलों के पुलिस अधिकारियों की बॉर्डर मीटिंग कराई जाये। इस बैठक में दोनों ही प्रदेशों के पुलिस अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि सभी जरूरी प्रतिबंधात्मक कार्यवाईयाँ समय-सीमा में हों।

बैठक में संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विवेक श्रोतिय, पुलिस महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) एवं स्टेट पुलिस नोडल ऑफिसर अंशुमान सिंह, सहायक पुलिस महानिरीक्षक नागेन्द्र सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 


Back to top button