.

बूंदी में अपहृत युवक को छुड़वाकर पुलिस ने नाकाबंदी में आठ आरोपियों को किया गिरफ्तार

बूंदी.

सरकारी अस्पताल के बाहर से युवक के अपहरण मामले में पुलिस ने आठ लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है और अपहरण के काम में ली गई बोलेरो कार को भी जब्त किया गया है। पुलिस की जांच पड़ताल में सामने आया है कि जिस युवक का अपहरण किया गया था, वह युवक अपहरणकर्ताओं के परिवार में से एक युवती को भगाकर ले गया था और उसने युवती से शादी कर ली। जिसका बदला लेने के लिए उन्होंने इस वारदात को अंजाम दिया दिया है।

कार्रवाई को अंजाम देने में सदर थाना, कोतवाली, तालेड़ा, केशवरायपाटन थाना पुलिस की अहम भूमिका रही। पीड़ित युवक राधेश्याम बागरी ने बताया कि बूंदी जिला अस्पताल में तबीयत खराब होने के चलते अपनी बहन को भर्ती करवाने के लिए आया था। दवाई के सिलसिले में मेडिकल स्टोर पर जाने के दौरान जयपुर नंबर की एक बोलेरो कार आई और उसमें से आधा दर्जन से अधिक युवक उतरे और मेरे साथ सारेआम मारपीट करते हुए मुझे बोलेरो में दखेल दिया और किडनैप करते हुए ले गए। अपहरण के दौरान कार में मारपीट करते हुए मुझे ले जा रहे थे। उधर इस मामले में कोतवाली थाने के सहायक निरीक्षक खेमराज मीणा ने बताया कि अपहरण की सूचना युवक की मां ने तत्परता दिखाते हुए कोतवाली थाना पुलिस को पुलिस ने पूरे जिले पर में नाकेबंदी करवाई। आसपास के सीसीटीवी फुटेज को खंगाल तो कलेक्ट्रेट और डिस्ट्रिक क्लब तिराहे पर युवक को बोलेरो कार में ले जाते हुए युवक नजर आए। इस पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज जिले के सभी थानों पर भेजे, जहां केशोरायपाटन थाना पुलिस ने नाकाबंदी के दौरान बोलेरो कार को पकड़ लिया और अपहरणकर्ताओं के चंगुल से युवक को छुड़ा लिया। सूचना पर कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और बदमाशों को गिरफ्तार कर कोतवाली थाना लाया गया।

लड़की भागने का बदला लेना चाहते थे आरोपी
कोतवाली थाना पुलिस ने पूछताछ की तो 8 आरोपियों ने बताया कि युवक राधेश्याम बागरी ने टोंक जिले से उनके परिवार में एक लड़की को भगाकर शादी की थी, जिसका बदला लेने के लिए हमने युवक की पहले रेकी की उसके बाद जैसे ही सूचना लगी तो युवक का अपहरण कर लिया।


Back to top button