.

राजस्थान के शिक्षा मंत्री ने PCC चीफ डोटासरा को बताया निकम्मा और बच्चों का दुश्मन

सीकर.

शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने मंगलवार सीकर के सर्किट हाउस में पौधरोपण किया। इस दौरान उन्होंने लक्ष्मणगढ़ विधायक गोविंद डोटासरा के खिलाफ जमकर हमला बोला। गुस्से में शिक्षामंत्री शब्दों की मर्यादा से बाहर चले गए। शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने कहा कि अगर डोटासरा ने स्कूल खोले होते तो मैं कभी बंद नहीं करता। न अब करूंगा और न ही आगे करने की योजना है। डोटासरा ने राजस्थान के बच्चों के साथ जबरदस्ती की है और दुश्मन समझा है। डोटासरा से निकम्मा कोई व्यक्ति हो ही नहीं सकता।

मदन दिलावर ने कहा कि इन्होंने बच्चों को कक्षा एक से सीधा 12वीं तक कर दिया। यानी कक्षा 6 का बच्चा हिंदी पढ़ता-पढ़ता 7वीं कक्षा में एकदम अंग्रेजी मीडियम पढ़ने लग जाएगा। इन्होंने बच्चों का भविष्य खराब करने का षड्यंत्र रचा है। ये जानते हैं कि पास होने में 33 प्रतिशत नंबर चाहिए। 13 नम्बर तो कोई भी ले आएगा और 20 में से 20 नंबर अध्यापक दे ही देते हैं। इसलिए इनका षड्यंत्र था कि राजस्थान के बच्चे, गरीब लोगों के बच्चे अनपढ़ रह जाएं। कंपटीशन में आगे न आ पाएं, इसलिए राजस्थान के बच्चों के साथ अन्याय किया है।

जांच हो रही है, सजा जरूर मिलेगी
दिलावर ने कहा कि गोविंद सिंह डोटासरा ने जो कृत्य किए हैं उनकी सजा उनको जरूर मिलेगी। जांच एजेंसिया जांच कर रही हैं। डोटासरा ने किसके कहने पर राजीव गांधी स्टडी सर्किल में पेपर रखवाए थे। स्टडी सर्किल में लोगों से किसने रखवाली रखवाई थी और चाबी क्यों दी थी। उन्होंने षडयंत्र पूर्वक चाबी दी थी, ताकि उनके मिलने वाले लोग रात को पेपर निकाल लेंगे।

सौदा करने का लगाया आरोप
उन्होंने कहा कि डोटासरा ने सौदा किया होगा कि जितना तुम पेपर बेचोगे उनका 75 प्रतिशत मुझे चाहिए। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है, जो-जो दोषी होगा चाहे कोई भी हो गहलोत, डोटासरा हो या मैं हूं सजा जरूर मिलेगी।


Back to top button