.

रूसी सेना यूक्रेन के खारकीव शहर के कई कस्बों में कब्जा कर चुका है, पुतिन को अब छकाएगी यूक्रेनी सेना

कीव
रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध खतरनाक मोड ले चुका है। एक तरफ रूसी सेना यूक्रेन के खारकीव शहर के कई कस्बों में कब्जा कर चुका है। रूसी सेना यूक्रेन में लगातार बढ़त बना रही है। उधर, यूक्रेन ने रूसी सेना को रोकने के लिए नई रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है। यूक्रेन के सशस्त्र बलों ने 10,000 किलोमीटर किलेबंदी करने की योजना बनाई है। यूक्रेन का यह कदम रूसी सेना को खदेड़ने के लिए है। यूक्रेन को लगता है कि किलेबंदी से रूसी सेना को कुछ दिन रोकने में कामयाबी मिल सकती है। रूस के खिलाफ युद्ध में यूक्रेन पहले ही हथियारों की कमी झेल रहा है। अमेरिका ने यूक्रेन के लिए हथियारों की मंजूरी तो दे दी है लेकिन, अभी तक हथियारों की खेप यूक्रेन तक नहीं पहुंच पाई है। यूक्रेनी राष्ट्रपति वलोडोमिर जेलेंस्की ने अपने देश को बचाने के लिए नाटो देशों से भी मदद की अपील की है।

खारकीव की जंग में रूस ने गंवाए 1500 सैनिक
यूक्रेनी शहर खारकीव के कस्बों को कब्जा करने के लिए रूस पिछले सात दिनों 1500 से अधिक सैनिकों और बड़ी मात्रा में ड्रोन, मिसाइल और टैंकों को खो चुका है। यूक्रेनी पब्लिकेशन लीगा का दावा है कि वे लगातार रूस को रोकने के लिए प्रयासरत हैं। रूसी सेना को रोकने के लिए अब यूक्रेनी सेना ने नए सिरे से योजना बनाना शुरू कर दिया है।

10000 किलोमीटर की किलेबंदी
यूक्रेन सेना के अधिकारियों का कहना है कि 10 हजार किलोमीटर की किलेबंदी की योजना बनाई है। यूक्रेन के सशस्त्र बलों ने इस किलेबंदी की तत्काल रूप से पुनर्निर्माण करने की योजना बनाई है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस बात की प्रबल संभावना है कि जल्द ही इस योजना को पूरा किया जाएगा। गौरतलब है कि रूस- यूक्रेन के बीच युद्ध को दो सालों से अधिक का समय हो गया है और इसने महायुद्ध में लाखों लोगों की जान जा चुकी है और अरबों की संपदा खाक हो चुकी है। यूक्रेन के खूबसूरत शहर श्मशान बन चुके हैं लेकिन न तो रूस ने युद्ध रोकने के कोई संकेत दिए हैं और न ही यूक्रेन ने घुटने टेके हैं। इस युद्धने दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाओं को प्रभावित किया है। ताजा घटनाक्रम के तहत रूसी सेना

 


Back to top button