.

शान-ए-भोपाल एक्सप्रेस 25 साल की हुई , रेल अफसरों ने यात्रियों के साथ मनाया ट्रेन का बर्थ डे

भोपाल
हम अक्सर अपने बर्थडे, शादी की सालगिरह या परिवार के किसी सदस्य, दोस्तों या रिश्तेदारों के यहां इन अवसरों पर केट काटते है। लेकिन ऐसा नजारा नहीं देखा होगा जहां ट्रेन के लिए केक लेकर लोग पहुंच गए हो। सुनकर अजीब लग रहा होगा ना। लेकिन भोपाल के रानी कमलापति स्टेशन पर रेल प्रेमी जब केक लेकर पहुंचे तो यह नजारा देख लोग हैरान हो गए। इसके साथ ही ट्रेन में बैठे यात्री तो भौचक्के ही रहे आए। जानिए आखिर क्या है पूरा माजरा।

दरअसल, भोपाल के रानी कमलापति से दिल्ली तक के लिए चलने वाली शान ए भोपाल ने अपने 25 साल का सफर पूरा किया है। इस खुशी में रेल प्रेमियों ने खुशी जाहिर की साथ ही 25 साल सफलतम सेवा देने के लिए ट्रेन का सिल्वर जुबली उत्सव मनाया।

ट्रेन के आते ही उत्साहित हुए रेलफैंस
शान ए भोपाल एक्सप्रेस ट्रेन भारतीय रेलवे की महत्वपूर्ण और प्रतिष्ठित ट्रेनों में से एक है। इस ट्रेन को साल 2003 में पहली आईएसओ प्रमाणित रेल बनी थी। इसके साथ ही हाई स्टैंडर्ड सर्विस के चलते यह ट्रेन आईएमएस प्रमाणित ट्रेन बनी। जैसे ही यह ट्रेन रानी कमलापति पहुंची। वहां रेल प्रेमियों और अधिकारियों की टीम दौड़ पड़ी। रेल प्रेमी ट्रेन के पास पुहंच कर सेल्फी लेने लगे। वहीं, कुछ लोग केक काटने की तैयारी करने लगे। यह नजारा देखकर स्टेशन पर और ट्रेन पर बैठे यात्री हैरान हो गए।

ट्रेन की मनाई गई सिल्वर जुबली
शान ए भोपाल एक्सप्रेस के गौरवशाली 25 सालों तक सेवा देने के चलते रेल प्रेमियों ने सिल्वर जुबली उत्सव मनाया। इस खास मौके पर रानी कमलापति स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर रेल फैंस, ट्रेन के ड्राइवर टीम (लोकोमोटिव पायलट और गार्ड) के साथ रेलवे अधिकारियों ने मिलकर उत्सव मनाया।

केक काटा गया, गुलाब बांटे गए
इस कार्यक्रम का खास आकर्षण केक कटिंग सेरेमनी रही। इसमें रेल फैंस के साथ मिलकर रेलवे कर्मचारियों ने पूरा किया। केक काटने के बाद इसे लोकोमोटिव पायलट को खिलाने के साथ ही यात्रियों के बीच बांटा गया। इसके साथ ही सिल्वर जुबली के अवसर पर 25 सालों की सेवा का उल्लेख करने वाले बिल बोर्ड लगाए गए। लोकोमोटिव टीम के साथ यात्रियों को गुलाब के फूल दिए गए।


Back to top button