सौंपना यूँ किसी घर को। कर देता है हृदय विचलित

Back to top button