.

छठे चरण के मतदान से कुछ घंटे पहले मिदनापुर में टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या

नंदीग्राम
पश्चिम बंगाल में मतदान से पहले एक बार फिर हुई दो अलग-अलग घटनाओं ने सुरक्षा-व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिया है. कारण, छठे चरण के मतदान से कुछ घंटे पहले पूर्वी मिदनापुर में एक टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई तो वहीं एक टीएमसी कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गया. पहली घटना पूर्वी मिदनापुर के महिषादल की है, जहां शुक्रवार रात चुनावी रंजिश में एस.के मोइबुल नाम के एक टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई. मृतक टीएमवाईसी के उपाध्यक्ष थे. टीएमसी ने आरोप लगाया है कि जब मोइबुल कल रात घर लौट रहे थे तो बीजेपी के कुछ लोगों ने उनकी हत्या कर दी. इस संबंध महिषादल थाना पुलिस ने 5 बीजेपी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है.

वहीं दूसरा मामला भी पूर्वी मिदनापुर का है. यहां के बक्चा इलाके में शुक्रवार रात तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में जबरदस्त झड़प हो गई है. इसमें अनंत बिजली नामक एक तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गया है. तृणमूल का आरोप है कि पीड़ित को लोहे की रॉड और बांस से पीटा गया है. लहूलुहान हालत में उसे मैना स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, वहां से उसे तामलुक जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया. बताया जा रहा है कि युवक की हालत गंभीर बनी हुई है.

बता दें कि आज 25 मई को छठे चरण के लिए वोटिंग जारी है. इस चरण में छह राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की 58 सीटों पर मतदान हो रहा है. दिल्ली की 7 सीटों पर मतदान सहित उत्तर प्रदेश की 14, बिहार की 8, पश्चिम बंगाल की 8, हरियाणा की 10, झारखंड की चार, ओडिशा की 6 और जम्मू-कश्मीर की एक सीट पर वोट डाले जा रहे हैं. सभी जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. हालांकि बंगाल में हुई इन दो घटनाओं ने सुरक्षा व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

22 मई को नंदीग्राम में बीजेपी कार्यकर्ता की हुई थी हत्या

बता दें कि इससे पहले पश्चिम बंगाल के नंदीग्राम में भारतीय जनता पार्टी (BJP) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई, जिसमें बीजेपी की एक महिला कार्यकर्ता की मौत हो गई. इस झड़प में बीजेपी के 7 कार्यकर्ता घायल भी हुए. घटना 22 मई की देर रात नंदीग्राम के सोनचूरा में हुई. यहां बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. तणमूल कार्यकर्ताओं पर आरोप है कि उन्होंने धारदार हथियार से बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला किया. झड़प में मृतक महिला बीजेपी कार्यकर्ता का नाम रथीबाला आड़ी है.

बैरकपुर में भी सामने आया था हिंसा का केस

हाल ही में 20 मई को बंगाल के बैरकपुर में बीजेपी उम्मीदवार अर्जुन सिंह और टीएमसी कार्यकर्ता के बीच झड़प हुई थी. पुलिसवालों की मौजूदगी के बीच ये कहासुनी हुई थी. उसके बाद से इलाके में तनाव फैल गया था. इसका फुटेज भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. तस्वीरों में दिख रहा था कि कई वोटर अर्जुन सिंह से बहस कर रहे हैं. दरअसल, बीजेपी कैंडिडेट ने आरोप लगाया था कि टीएमसी के पार्थ भौमिक ने पैसे बांटे हैं.

 


Back to top button