.

उज्जैन केडी गेट से इमली चौराहा तक सड़क को 15 मीटर चौड़ा प्रस्तावित,धार्मिक स्थल जिसमें मंदिर, मस्जिद और जैन तीर्थ स्थल शामिल, मुस्लिमो का विरोध शुरू

उज्जैन

 उज्जैन में सड़क चौड़ा करने में बाधा बन रहे 18 धार्मिक स्थल जिसमें मंदिर, मस्जिद और जैन तीर्थ स्थल के साथ 32 मकान के गलियारे भी हैं, तोड़े जाएंगे। इसके लिए गुरुवार सुबह 5 बजे से ही प्रशासनिक अमला नगर निगम की टीम के साथ पहुंच गया और धार्मिक स्थलों को गिराने की कार्रवाई शुरू कर दी। इस दौरान मस्जिद के कुछ हिस्से को गिराने को लेकर मुस्लिम महिलाएं विरोध में सड़क पर बैठ गईं। प्रशासन के समझाने के बाद महिलाएं सड़क से हटीं। वहीं जैन समाज के लोगों ने प्रभावित हिस्से को खुद ही हटाना शुरू कर दिया। बता दें कि इस मामले को लेकर कांग्रेस ने विरोध जताया था और बड़े आंदोलन की चेतावनी है।

उज्जैन शहर में केडी गेट से इमली चौराहा तक सड़क को 15 मीटर चौड़ा किया जाना है। इसमें मंदिर-मस्जिद के साथ ही जैन मंदिर सहित 32 मकान बाधा बन रहे थे। नगर निगम ने इन सभी को पहले ही नोटिस देकर हटाने की बात रखी थी। मामले को लेकर राजनीति भी हुई। कांग्रेस इसके विरोध में आ गई और आंदोलन की चेतावनी दे डाली। बता दें कि केडी गेट से लेकर इमली चौराहा तक जून 2023 में सड़क चौड़ीकरण का काम शुरू हुआ था। इसमें 13 मंदिर, 1 मजार, 2 मस्जिद, 2 जैन मंदिर आड़े आ रहे हैं। इसके साथ ही 32 मकानों की गैलरी और आगे के हिस्से भी मार्ग को प्रभवित कर रहे हैं।

एक दिन पहले मुनादी के बाद लगाए बेरिकेट

प्रभावित हिस्सों को हटाने के लिए गुरुवार सुबह 5 बजे से ही नगर निगम की टीम पुलिस बल के साथ पहुंच गई।  प्रसासन ने एक दिन पहले ही बुधवार को मार्ग का निरीक्षण किया था। मुनादी भी करवाई गई। देर शाम तक अधिकारियों ने पूरे मार्ग पर लगाने के लिए बैरिकेड्स भिजवा दिए थे। लोगों को सुबह घर के बाहर निगम और पुलिस का अमला दिखा तो वे विरोध करने लगे। आधे घंटे की कोशिश के बाद अधिकारी लोगों को समझाने में कामयाब रहे।

अल सुबह शुरू कर दी गई कार्रवाई  

लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले ही मुख्यमंत्री मोहन यादव ने मार्ग से अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे। मकानों के प्रभावित हिस्सों को गुरुवार अल सुबह प्रशासन की टीम हटाने पहुंची। मुस्लिम समाज के लोग इसके विरोध में उतर आए। महिलाएं मस्जिद के सामने ही सड़क पर बैठ गईं। नगर निगम कमिश्नर आशीष पाठक, एडीएम अनुकूल जैन, एडिशनल एसपी जयंत राठौर सहित तीन सीएसपी और चार थानों के टीआई मौके पर पहुंचे। नगर निगम और पुलिस के अधिकारियों ने लोगों को समझाया।

समाज के लोगो के साथ खुद हटाने लगे व्यवस्थापक

प्रसासन द्वारा समझाने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने खुद ही मस्जिद के हिस्से को गिराने का निर्णय लिया। नयापुरा स्थित श्वेतांबर समाज के जैन मंदिर के प्रभावित हिस्से को हटाने की प्रक्रिया जैन समाज के लोगों ने शुरू करवा दिया है। इसी तरह कामदारपुरा की मस्जिद के प्रभावित हिस्से को भी व्यवस्थापक खाली करवाने में लगे थे। उज्जैन के एडीएम अनुकूल जैन ने बताया कि गुरुवार सुबह से ही कार्रवाई शुरू कर दी गई थी। कुछ लोगों का विरोध सामने आया था। समझाने पर वे लोग मान गए। इस मार्ग को 15 मीटर चौड़ा होना है। मार्ग में बाधा बन रहे 38 धार्मिक स्थलों के साथ मकान को चिन्हित किया है जिसे हटाने की कार्रवाई जारी है। 


Back to top button