.

सवर्ण टीचर की पिटाई से मेधावी दलित छात्र की 18 दिन बाद अस्पताल में मौत, टेस्ट में एक शब्द की हो गई थी गलती | ऑनलाइन बुलेटिन

लखनऊ | [उत्तर प्रदेश बुलेटिन] | औरैया के अछल्दा थाना क्षेत्र के आदर्श इंटर कॉलेज (Adarsh ​​Inter College) में सवर्ण टीचर अश्वनी सिंह (Teacher Ashwani Singh) ने बाल पकड़कर लात- घूसों और डंडों से इतना पीटा कि वह स्कूल में ही बेहोश हो गया. पिटाई से मेधावी दलित छात्र निखित कुमार दोहरे (15) की मौत (Dalit student death) हो गई. बताया जा रहा है कि 7 सितंबर को सवर्ण टीचर अश्वनी सिंह (Teacher Ashwani Singh) ने मेधावी छात्र को बेरहमी से पीटा था. छात्र को समय पर उचित इलाज नहीं मिलने के कारण मौत हो गई। छात्र निखित कुमार दोहरे से टेस्ट पेपर में सिर्फ एक शब्द की गलती हो गई थी। वहीं शिक्षक ने परिजन को जाति सूचक गाली भी दी। परिजन की शिकायत पर पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध कर शिक्षक की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित की है।

 

परिजन की शिकायत पर सवर्ण शिक्षक अश्वनी सिंह ने जातिसूचक गाली देते हुए भागा दिया। इसके पीड़ित पिता रविवार को थाने गया और वहां शिक्षक के खिलाफ FIR दर्ज करवाई.

 

टीचर अश्वनी सिंह (Teacher Ashwani Singh) की बेरहमी से पिटाई के बाद छात्र करीब 18 दिन तक जिंदगी और मौत से जंग लड़ता रहा और सोमवार सुबह उसकी इलाज के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गई.

 

क्या है पूरा मामला?

 

अछल्दा थाना क्षेत्र के कस्बा फफूंद रोड स्थित आदर्श इंटर कॉलेज (Adarsh ​​Inter College) में वैशोली गांव निवासी निखित कुमार (15) दसवीं का छात्र था. छात्र के पिता राजू दोहरे ने मीडिया को बताया कि 7 सितंबर को सामाजिक विज्ञान के टीचर अश्वनी सिंह (Teacher Ashwani Singh) ने क्लास में टेस्ट लिया था.

रेडियो मेरी आवाज काव्यांजलि-श्रद्धांजलि कार्यक्रम में देश-विदेश से जुड़ीं नामचीन हस्तियां, कोरोना से काल का ग्रास बने दिवंगत आत्माओं को दी श्रद्धांजलि | Newsforum
READ

 

टेस्ट के लिए उनके बेटे ने खूब तैयारी भी की थी. वह पढ़ने लिखने में स्कूल में सबसे होशियार था, लेकिन टेस्ट में उसने कोई शब्द गलत लिख दिया. इसी बात को लेकर टीचर अश्वनी सिंह ने उनके बेटे के बाल पकड़कर लात-घूसों और डंडों से इतना पीटा कि वह स्कूल में ही बेहोश हो गया.

 

इलाज के लिए लखनऊ किया रेफर

 

पिटाई से घायल छात्र की हालत को देखकर प्रिंसिपल के दखल के बाद टीचर अश्वनी सिंह (Teacher Ashwani Singh) ने उसका इलाज इटावा के एक प्राइवेट अस्पताल में कराने की बात कही.

 

डाक्टरों ने बताया कि बच्चे को बहुत सारी अंदरूनी चोटें आई थी. वहीं, जब इटावा के डॉक्टरों से मामला नहीं संभला तो पहले बच्चे को लखनऊ रेफर कर दिया.

 

छात्र के पिता राजू दोहरे ने मीडिया को बताया कि ‘पिटाई की जानकारी जब हमने टीचर अश्वनी सिंह (Teacher Ashwani Singh) को उसके घर जाकर दी, तो वह नाराज हो गया. इतना ही नहीं टीचर ने जाति सूचक गालियां देते हुए भगा दिया.

 

इसके पीड़ित पिता रविवार को थाने गया और वहां शिक्षक के खिलाफ FIR दर्ज करवाई. पुलिस ने हालात देखते हुए उनके बच्चे को इलाज के लिए सैफई में एडमिट करा दिया. हालांकि, मामला गंभीर था और समय पर इलाज न मिलने की वजह से सोमवार सुबह बेटे निखित की मौत हो गई.

 

एसपी ने बताया कि अछल्दा थाना क्षेत्र के आदर्श इंटर कॉलेज में वैशाली गांव के रहने वाले निखित कुमार (15) की विद्यालय में पढ़ाने वाले शिक्षक अश्वनी सिंह ने बीती 7 सितंबर को पिटाई कर दी थी. इलाज के दौरान सोमवार सुबह निखित की मौत हो गई. पीड़ित की तहरीर के आधार पर आरोपी शिक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर दी गई हैं.

 

जांच एजेंसियों का डर दिखाकर मायावती को कर दिया साइलेंट, तब जीती भाजपा- शिवसेना | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

 

गिरफ्तारी के बाद मंत्रियों को पद से हटाने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार | ऑनलाइन बुलेटिन

 

 

 

Related Articles

Back to top button