.

मोहन भागवत का मस्जिद और मदरसों में मुस्लिम धर्मगुरुओं से मुलाकात पर आरोप-प्रत्यारोप शुरू | ऑनलाइन बुलेटिन

दिग्विजय का तंज, बोले- मोहन भागवत का हृदय परिवर्तन हो रहा, ये राहुल गांधी की यात्रा का असर

भोपाल | [मध्य प्रदेश बुलेटिन] | दिल्ली की मस्जिद और मदरसों में मुस्लिम धर्मगुरुओं से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत की मुलाकात पर मध्यप्रदेश में आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि ये राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का ही परिणाम है कि आरएसएस प्रमुख का हृदय परिवर्तन हो रहा है। उन्हें मुस्लिम धर्मगुरुओं से मिलने जाना पड़ रहा है। अब संघ के अन्य लोगों को भी मुस्लिम भाइयों से जाकर मिलना चाहिए।

 

दिग्गी के बयान पर प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार करते हुए कहा कि मुसलमानों से बैर नहीं और आतंकियों की खैर नहीं। हम किसी धर्म के विरोधी नहीं हैं।

 

दरअसल, दोनों ही नेता जबलपुर पहुंचे थे। दिग्विजय सिंह यहां से शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की तेरहवीं में शामिल होने नरसिंहपुर चले गए। नरसिंहपुर रवाना होने से पूर्व उन्होंने जबलपुर के सर्किट हाउस में मीडिया से चर्चा की।

 

दिग्विजय सिंह ने दिल्ली के इमाम द्वारा संघ प्रमुख मोहन भागवत को राष्ट्रऋषि, राष्ट्रपिता कहने पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि किसके दबाव के चलते इमाम ने यह कहा है। वैसे आरएसएस हमेशा मुसलमानों के लिए दुष्प्रचार करती रही है कि मुसलमान अल्पसंख्यक से बहुसंख्यक हो जाएंगे, जबकि ऐसा नहीं है।

 

उन्होंने कहा कि गरीब, दलित, आदिवासी और वंचित वर्गों की बात रखने में मैं बिल्कुल भी समझौता नहीं करता। वहीं, ऐसे संगठन जो धार्मिक उन्माद और नफरत फैलाते हैं, उनकी खिलाफत करने में भी समझौता नहीं करता। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी हाईकमान जो निर्णय लेगा, मैं वैसा ही करूंगा।

दिल्ली में जानलेवा हुआ कोरोना, आज मिले 1042 नए केस; संक्रमण दर 4 फीसदी से ज्यादा | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

देश और प्रदेश में आतंकियों की खैर नहीं: गृहमंत्री

 

गृह एवं जेल मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह के बयान पर पलटवार किया। वे भी जबलपुर पहुंचे थे। इसी दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि हम ना तो हम किसी धर्म के विरोधी हैं और ना ही मुसलमानों से बैर है। हम रहीम के उपासक रहे हैं। लेकिन, हमारे प्रदेश और देश में आतंकियों की खैर भी नहीं है।

 

उन्होंने कहा कि हमारा मुसलमानों से बैर नहीं और आतंकियों की खैर नहीं। गृहमंत्री ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के मस्जिद व मदरसा जाने पर कहा है कि उनकी सोच शुरू से ही स्पष्ट रही है। हम किसी धर्म और मजहब के खिलाफ नहीं हैं। हमारी संस्कृति ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की रही है।

 

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव पर तंज

 

नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी इस समय बड़ी दुविधा में है। वह 4 साल में अपना अध्यक्ष नहीं चुन पाई। कार्यकारी अध्यक्ष से ही काम चला रहे हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए जिसके नाम का प्रस्ताव पास हुआ था, वह अध्यक्ष बनना नहीं चाहते और जो अध्यक्ष बनना चाह रहे हैं, उसके लिए पार्टी तैयार नहीं है।

 

 

बड़ी खबर: आम आदमी की नई मुसीबत: WhatsApp कॉल भी Free नहीं! सरकार ने तैयार किया नया ड्राफ्ट | ऑनलाइन बुलेटिन

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button