.

बीजेपी ने लोधी का निष्कासन कर बताई उनकी हैसियत, भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद जमकर बरसे भाजपा पर beejepee ne lodhee ka nishkaasan kar bataee unakee haisiyat, bheem aarmee cheeph chandrashekhar aajaad jamakar barase bhaajapa par

भोपाल | [मध्य प्रदेश बुलेटिन] | ग्वालियर पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 90 प्रतिशत आबादी बहुजन समाज की है। लेकिन उनकी सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक हैसियत न के बराबर है। चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि भाजपा नेता प्रीतम लोधी का निष्कासन इसी का एक उदाहरण है। भाजपा ने प्रतिम लोधी की हैसियत बताई है। वह संविधान निर्माता बाबा साहब अंबेडकर की शरण में आए हैं। इसलिए उन्हें कथित बागेश्वर धाम महाराज के श्राप से विचलित होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि बाबा भीमराव अंबेडकर का संविधान सुरक्षा कवच के रूप में उनके साथ है।

 

प्रीतम लोधी ने ग्वालियर में बाबा साहेब डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। चंद्रशेखर रावण ने कहा कि ग्वालियर दौरे के दौरान उन्हें शिवपुरी में 100 से ज्यादा दलित उत्पीड़न की शिकायतें मिली है। प्रदेश में एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग का शोषण किया जा रहा है। पिछड़े वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण देने की घोषणा की थी। लेकिन पंचायत चुनाव में यह सिर्फ 7.5 प्रतिशत आरक्षण पर ही चुनाव लड़ा गया। बहुजन समाज वर्ग के लोग आज भी गुलाम भारत जैसे हालातों में जीने को मजबूर है। यहां तक की दलित बेटियों को स्कूल नहीं जाने दिया जा रहा है। दलित के मूछें रखने पर हत्या कर दी जाती है।

 

उन्होंने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों पर भी एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग का कोई अधिकार नहीं है। सभी संसाधन संपन्न वर्ग के लोगों के कब्जे में है। लोगों के पास काम नहीं है। पैसा और जमीन न होने की वजह से दोयम दर्जे का जीवन जीने के मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में जन जागरण करने के मकसद से वह सभी जिलों को समाहित करते हुए एक न्याय यात्रा निकालेंगे। प्रदेश की राजधानी भोपाल में न्याय यात्रा का समापन होगा।

 

 

BJP expels Lodhi and told his status, Bhim Army Chief Chandrashekhar Azad rained heavily on BJP

 

Bhopal | [Madhya Pradesh Bulletin] | Bhim Army Chief Chandrashekhar Azad, who reached Gwalior, targeted the BJP fiercely. He said that 90 percent of the population in the state belongs to Bahujan Samaj. But their social, economic and political status is negligible. Chandrashekhar Azad said that the expulsion of BJP leader Pritam Lodhi is an example of this. The BJP has declared the status of Pratim Lodhi. He has come under the shelter of Babasaheb Ambedkar, the architect of the constitution. So he need not get distracted by the curse of alleged Bageshwar Dham Maharaj, because Baba Bhimrao Ambedkar’s constitution is with him as a protective shield.

 

Pritam Lodhi garlanded the statue of Babasaheb Dr. Ambedkar in Gwalior. Chandrashekhar Ravana said that during his visit to Gwalior, he had received more than 100 complaints of Dalit harassment in Shivpuri. SC, ST and OBC classes are being exploited in the state. 27 percent reservation was announced for backward classes. But in Panchayat elections, it was contested only on 7.5 percent reservation. Even today the people of Bahujan society are forced to live in conditions like slave India. Even Dalit daughters are not being allowed to go to school. A Dalit is killed for having a moustache.

 

He said that even the SC, ST and OBC class have no right over the natural resources. All the resources are in the possession of the rich class people. People don’t have work. Due to lack of money and land, they are forced to live a second standard life. He said that for the purpose of creating public awareness in Madhya Pradesh, he would take out a Nyay Yatra covering all the districts. The Nyay Yatra will end in Bhopal, the capital of the state.

 

 

 

दोस्तों ने प्राइवेट पार्ट के अंदर घुसा दिया स्टील का ग्लास, फिर डॉक्टरों ने किया चमत्कार, ओडिशा का मामला doston ne praivet paart ke andar ghusa diya steel ka glaas, phir doktaron ne kiya chamatkaar, odisha ka maamala

 

 

 

Related Articles

Back to top button