.

दलित छात्राओं के दाल परोसने पर स्कूल के सवर्ण कुक ने फिंकवाया खाना, गिरफ्तार dalit chhaatraon ke daal parosane par skool ke savarn kuk ne phinkavaaya khaana, giraphtaar

उदयपुर | [राजस्थान बुलेटिन] | दलित छात्र इंद्र कुमार मेघवाल का मामल ठंडा पड़ा भी न था की राजस्थान में एक और दलित उत्पीड़न का मामला सामने आया है। यहां के सरकारी स्कूल में सवर्ण कुक ने दलित (मेघवाल) छात्राओं द्वारा भोजन परोसे जाने पर पूरा खान फिंकवा दिया। मामला थाने पहुंचा तो पुलिस ने आरोपी सवर्ण कुक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मामला दर्ज किया है। यह मामला गोगुंदा ब्लॉक के भरोड़ी गांव में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय का है।

 

पुलिस के मुताबिक शुक्रवार को गोगुंदा के भारोड़ी गांव के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय की छात्रा डिम्पल मेघवाल (13) और नीमा मेघवाल (14) ने स्कूल के कुक लालूराम गुर्जर पर इस तरह का भेदभाव करने और खाना फिंकवाने का आरोप लगाया है। यह खाना मिड-डे मिल के तहत दिया गया था। दोनों ने कुक के खिलाफ गोगुंदा थाने में रिपोर्ट दी है।

 

मामले में डिप्टी भूपेंद्र सिंह ने इस मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि आरोपी सवर्ण कुक 55 वर्षीय लालूराम गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि जांच में प्रथम दृष्टया आरोप सही पाया गया है। आरोपी कई सालों से साल से काम कर रहा था। वह अपने चुने हुए बच्चों से ही खाना परोसवाता था। मगर शुक्रवार को इन दो बच्चियों के दाल परोसने पर उसे आपत्ति हुई। इसके चलते उसे गिरफ्तार कर लिया है।

 

यह बोलीं छात्राएं

 

छात्राओं ने रिपोर्ट में बताया कि शुक्रवार को स्कूल के बाद भोजन के समय खाना खा रहे बच्चों को उन्होंने दाल परोसी थी। उनके दाल परोसे जाने से कुक लालूराम गुर्जर नाराज हो गया। पहले कुक ने उनके साथ गाली गलौज की। आरोपी ने अन्य लोगों को यहां तक कहा कि ये नीची जाति की हैं, इनके छुए खाने को क्यों खा रहे, फेंक दो।

 

लालूराम के ऐसा कहने पर बच्चों ने खाना फेंक दिया। इस मामले का पता चलने पर मेघवाल बस्ती के लोग स्कूल में पहुंचे। अध्यापकों से कुक की शिकायत की। स्टाफ ने कुक के व्यवहार को गलत बताया और आश्वस्त किया कि स्कूल भेदभाव नहीं होने देंगे। स्कूल में सभी जातियों के लोग पढ़ते हैं।

 

इस पूरे मामले को लेकर स्कूल के प्रिंसिपल और मिड-डे मील प्रभारी शिवलाल शर्मा का कहना है कि आटे में मेंढक गिरने की वजह से खाना फिंकवाया था। स्कूल में सौहार्दपूर्ण वातावरण है। सभी बच्चे एक ही जगह से पानी पीते हैं। हम और भी समझाइश कर स्कूल का वातावरण खराब नहीं होने देंगे।

 

 

 

School’s upper caste cook threw food for serving pulses to Dalit girl students, arrested

 

 

Udaipur | [Rajasthan Bulletin] | The case of Dalit student Inder Kumar Meghwal was not even cold that another case of Dalit harassment has come to the fore in Rajasthan. In the government school here, the upper caste cook threw the entire meal when Dalit (Meghwal) girl students were served food. When the matter reached the police station, the police arrested the accused Savarna Cook and registered a case against him. This case is of Government Upper Primary School in Bharodi village of Gogunda block.

 

According to the police, on Friday, Dimple Meghwal (13) and Neema Meghwal (14), students of Government Upper Primary School in Bharodi village of Gogunda, accused the school’s cook Laluram Gurjar of discriminating and throwing food. This food was given under the mid-day meal. Both have given a report against Cook to the Gogunda police station.

 

Confirming the matter, Deputy Bhupendra Singh said that the accused Savarna Cook, 55-year-old Laluram Gurjar, was arrested. He said that prima facie the allegation has been found to be true in the investigation. The accused was working for many years. He used to serve food to his chosen children. But on Friday, he objected to the serving of pulses to these two girls. Because of this he has been arrested.

 

Said this girls

 

The girl students told in the report that they had served dal to the children who were having lunch after school on Friday. Cook Laluram Gurjar got angry when his dal was served. First the cook abused him. The accused even told other people that they belong to a lower caste, why should they eat the food they touch, throw it.

 

The children threw the food after Laluram said so. On coming to know about this matter, the people of Meghwal Basti reached the school. Complained about the cook to the teachers. Staff called Cook’s behavior wrong and assured that the school would not allow discrimination. People of all castes study in the school.

 

Regarding this whole matter, the school principal and mid-day meal in-charge Shivlal Sharma says that the food was thrown due to the frog falling in the flour. There is a cordial atmosphere in the school. All the children drink water from the same place. We will not let the environment of the school get spoiled by more persuasion.

 

 

आजाद के समर्थन में जम्मू-कश्मीर में फिर 20 कांग्रेसी छोड़ चले पार्टी aajaad ke samarthan mein jammoo-kashmeer mein phir 20 kaangresee chhod chale paartee

 

 

Related Articles

Back to top button