.

जान देकर चुकानी पड़ी सवर्ण लड़की से शादी की कीमत, दो बार का विधायक प्रत्याशी रह चुका था jaan dekar chukaanee padee savarn ladakee se shaadee kee keemat, do baar ka vidhaayak pratyaashee rah chuka tha

हरिद्वार | [उतराखंड बुलेटिन] | अल्मोड़ा जिले के भिकियासैंण में सवर्ण युवती से प्रेम विवाह करने पर ससुराल वालों ने अपहरण के बाद दलित नेता की हत्या कर दी। घटना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस ने हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

 

दो बार का विधायक प्रत्याशी रह चुका था जगदीश

 

उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी से दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके सल्ट के पनुवाधौखन निवासी जगदीश चंद्र पुत्र केश राम और भिकियासैंण निवासी गीता उर्फ गुड्डी ने बीते 21 अगस्त को गैराड़ मंदिर में प्रेम विवाह किया था। शादी से पहले गुड्डी अपने सौतेले पिता जोगा सिंह और सौतेले भाई गोविंद सिंह के साथ रहती थी। एक दलित से शादी करना उसके सौतेले भाई और पिता को रास नहीं आया और दोनों ने मिलकर जगदीश की हत्या कर दी।

 

अपहरण कर ले गए और हत्या कर दी

 

उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी ने बताया कि दलित से विवाह की सूचना के बाद से सौतेले परिजन उसके पति के जान के दुश्मन बने हुए थे। आरोप है कि गुरुवार को जगदीश के ससुराल वालों ने जगदीश चंद्र को भिकियासैंण में पकड़ लिया था। उसके बाद वह लोग जगदीश चंद्र का एक गाड़ी से अपहरण कर ले गए। उसके बाद बेरहमी से जगदीश की हत्या कर दी। सूचना पर पुलिस और राजस्व की टीम ने देर शाम गाड़ी से जगदीश का लहुलूहान शव बरामद कर लिया।

 

सभी आरोपी गिरफ्तार

 

एसएसपी प्रदीप कुमार राय ने बताया कि शव बरामद कर लिया गया है। हत्या करने वाले सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्या में प्रयुक्त हथियार अभी बरामद नहीं हो सका है हलांकि उन्होंने बताया कि किसी हथौड़ीनुमा हथियार के प्रहार से जगदीश की हत्या हुई है।

 

 

 

Had to pay the price of marrying a Savarna girl, had been a two-time MLA candidate

 

 

Haridwar | [Uttarakhand Bulletin] | In Bhikiasain of Almora district, the Dalit leader was kidnapped and murdered by the in-laws after he was married to an upper caste girl. The incident has stirred the police administration. The police have arrested the killers. The body has been sent for the post mortem

 

 Jagdish had been a two-time MLA candidate

 

Jagdish Chandra, son of Kesh Ram, a resident of Panuwadhokhan, Salt, who had contested the assembly elections twice from the Uttarakhand Parivartan Party, and Geeta alias Guddi, a resident of Bhikiyasain, had a love marriage on August 21 at the Garad temple. Before marriage, Guddi lived with her step-father Joga Singh and half-brother Govind Singh. Marrying a Dalit, her half-brother and father did not like it and together they killed Jagdish.

 

 kidnapped and murdered

 

PC Tiwari, the central president of Uttarakhand Parivartan Party, said that the step-family members had become enemies of her husband’s life after the information about her marriage to a Dalit. It is alleged that Jagdish Chandra was caught in Bhikiyasain by the in-laws of Jagdish on Thursday. After that they kidnapped Jagdish Chandra from a car. After that mercilessly killed Jagdish. On information, the police and revenue team recovered Jagdish’s bloodied body from the vehicle late in the evening.

 

 all accused arrested

 

SSP Pradeep Kumar Rai said that the body has been recovered. All the accused in the murder have been arrested. The weapon used in the murder could not be recovered yet, although he said that Jagdish was killed by a hammer-like weapon.

 

 

बच्चा समेत बोगी में थे 3 लोग, दुष्कर्म में नाकाम रेलयात्री ने महिला को ट्रेन से फेंका bachcha samet bogee mein the 3 log, dushkarm mein naakaam relayaatree ne mahila ko tren se phenka

 

 

Related Articles

Back to top button