.

रेल पटरी से उछलकर लोहे का सब्बल ट्रेन की खिड़की तोड़कर गर्दन में जा घुसा:110 किमी/घंटे की रफ्तार से दौड़ रही थी ट्रेन, पैसेंजर की मौके पर ही मौत | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

लखनऊ | [उत्तर प्रदेश बुलेटिन] | अलीगढ़ में नीलांचल एक्सप्रेस में एक बेहद चौंकाने वाला हादसा सामने आया है। यहां पटरी पर पड़ा लोहे का भरी भरकम सब्बल 110 की रफ्तार से चलती ट्रेन की खिड़की तोड़ते हुए यात्री के गर्दन में जा घुसा और सिर फाड़ते हुए निकल गया। यात्री की मौके पर ही मौत हो गई। घटना डाबर-सोमना स्टेशन के बीच हुई।

 

हादसे के बाद कम्पार्टमेंट में चीख-पुकार मच गई। लोग इधर-उधर भागने लगे। किसी को कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि आखिरी ये कैसे हुआ। कुछ ही देर में कम्पार्टमेंट का फर्श खून से लाल हो गया। इस बीच अन्य यात्रियों ने चेन पुलिंग करके ट्रेन रोकी। GRP और RPF को बुलाया। शव को ट्रेन से बाहर निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया।

 

रेलवे के मुताबिक हादसे में जान गंवाने वाले यात्री का नाम हरिकेश कुमार दुबे है। वह सुल्तानपुर के गोपीनाथपुर गांव के रहने वाला था। गुरुवार को घर जाने के लिए दिल्ली से सुल्तानपुर के लिए रवाना हुआ था। ट्रेन अलीगढ़ के सोमना पहुंचने वाली थी, तभी यह घटना हुई। हरिकेश दिल्ली में मोबाइल टॉवर से जुड़ी कंपनी में टेक्नीशियन था। वह ट्रेन के जनरल कोच में खिड़की के किनारे बैठे हुआ था।

 

पास बैठी महिला बाल-बाल बची

 

इस भयावह हादसे में हरिकेश के पास बैठी एक महिला बाल-बाल बच गई। महिला अपनी सीट पर बैठी थी। सब्बल उसकी गर्दन को छूकर निकल गया। उस महिला ने रेलवे स्टाफ को पूछताछ में बताया- ट्रेन की स्पीड बहुत तेज थी। पलक झपकते ही यह हादसा हो गया। ट्रेन की तेज आवाज में शायद उसकी चीख भी नहीं सुनाई दी। जब कुछ सेकेंड बाद देखा तो उसके सिर में रॉड घुसी थी। सीट पर खून बहने लगा था। यह देखकर मेरी व अन्य यात्रियों की चीख निकल गई। कोच में भगदड़ मच गई। आनन-फानन में ट्रेन रोककर पुलिस को घटना की सूचना दी गई।

Opinion poll: 'नोट पर लक्ष्मी-गणेश', केजरीवाल की मांग को 55 प्रतिशत लोगों ने बताया गलत | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

ट्रैक पर पड़ा था लोहे का सब्बल

 

यह चौंकाने वाला हादसा कैसे हुआ, इस पर रेलवे अफसर अभी कुछ नहीं बोल रहे हैं। बताया जा रहा है कि ट्रैक पर ही सब्बल (रॉड) पड़ा हुआ था। ट्रेन का पहिया जैसे ही उस पर पड़ा, वह उछल गया। स्पीड इतनी तेज थी कि वह खिड़की को चीरते हुए यात्री की गर्दन में जा घुसा और सिर फाड़ कर निकल गया। इसके बाद यात्री के पीछे की चादर को भी सब्बल ने चीर दिया।

 

GRP ने दी परिजनों को सूचना

 

मृतक युवक हरिकेश सुल्तानपुर अपने घर जा रहा था। GRP ने उसके पास मिले आई कार्ड के आधार पर कंपनी से बात की। फिर परिवार का नंबर लेकर परिजनों को जानकारी दी। बेटे की मौत की खबर से घर में कोहराम मच गया।

 

गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज

 

नॉर्थ सेंट्रल रेलवे के CPRO हिमांशु शेखर उपाध्याय ने बताया कि घटना के बाद मौके पर पहुंची GRP और RPF की फोर्स ने मामले की जांच शुरू कर दी है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजने के साथ ही कानूनी कार्रवाई भी की जा रही है।

 

GRP इंस्पेक्टर सुबोध यादव ने बताया कि गैर इरादतन हत्या की धारा-304 के तहत अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। ट्रैक पर काम करने वाले मजदूरों की तलाश की जा रही है, जिनकी लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ।

 

ये भी पढ़ें:

CG Job Bulletin: CGKV RECRUITMENT 2023: अंशकालीन शिक्षक की वेकेंसी के लिए इस विश्वविद्यालय में आवेदन आमंत्रित | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

 

Related Articles

Back to top button