.

NCRB-2021: वाम उग्रवादियों ने की दोगुने पुलिसकर्मियों की हत्या, रिपोर्ट से खुलासा nchrb-2021: vaam ugravaadiyon ne kee dogune pulisakarmiyon kee hatya, riport se khulaasa

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | NCRB- 2021:National Crime Records Bureau एनसीआरबी (राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो) की ताजा रिपोर्ट में पुलिसवालों की हत्याओं को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। National Crime Records Bureau एनसीआरबी (राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो) के वार्षिक ‘क्राइम इन इंडिया’ के मुताबिक, साल 2021 में वामपंथी उग्रवादियों ने आतंकवादियों की तुलना में दोगुने पुलिसकर्मियों की हत्या की। रिपोर्ट के मुताबिक, left wing extremists एलडब्ल्यूई (वामपंथी चरमपंथियों) द्वारा हिंसा में मारे गए पुलिसकर्मियों की संख्या आतंकवादियों द्वारा मारे गए पुलिसकर्मियों की संख्या से दोगुनी थी।

 

18 पुलिसकर्मियों की कर दी हत्या

 

एनसीआरबी की रिपोर्ट में बताया गया है कि साल 2021 में जहां 18 पुलिसकर्मियों को आतंकवादियों या चरमपंथियों द्वारा मार दिया गया था। वहीं, वामपंथी उग्रवादियों ने 40 पुलिसकर्मियों की हत्या इस साल कर दी थी। वहीं, इस साल में सीमा पर हुई गोलीबारी में एक, दंगाई भीड़ में एक और अपराधियों द्वारा 11 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि सात पुलिसकर्मी दुर्घटनावश अपने ही हथियार से और 339 पुलिसकर्मी दुर्घटनाओं में मारे गए।

 

 सबसे ज्यादा कांस्टेबल रैंक के पुलिसकर्मियों की हुई मौत

 

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि ड्यूटी पर मारे गए कुल 427 पुलिसकर्मियों में से, सबसे अधिक पुलिसकर्मी कांस्टेबल रैंक के थे। इनकी संख्या 233 है। इसके बाद 88 हेड कांस्टेबल, 37 सहायक उप-निरीक्षक, 26 उप-निरीक्षक, चार निरीक्षक रैंक के पुलिसकर्मी और एक राजपत्रित अधिकारी और दो अन्य की मौत ड्यूटी के दौरान हुई। इसके अलावा साल 2021 में विभिन्न रैंकों में कुल 1632 पुलिस कर्मियों के घायल होने की सूचना है।

 

2021 में तमिलनाडु में सबसे ज्यादा पुलिसवालों की मौत

 

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की हालिया रिपोर्ट से इस बात का भी पता चलता है कि 2021 में तमिलनाडु में सबसे ज्यादा पुलिसवालों की मौत हुई है। तमिलनाडु में अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में 56 पुलिसकर्मियों की मौत हुई है। साथ ही दो पुलिसवालों को अपराधियों ने मार डाला था। पुलिसवालों की मौत के मामले में दूसरे नंबर पर छत्तीसगढ़ का नाम आता है। यहां वामपंथी उग्रवाद में 40 और सड़क हादसों में सात पुलिसकर्मियों की मौत हुई। इसके अलावा बिहार में सड़क हादसों में 38 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। यहां दंगाइयों ने एक पुलिसकर्मी को मार डाला।

 

वहीं, बात अगर केंद्र शासित प्रदेशों की करें तो 2021 में ऐसे प्रदेशों में जम्मू-कश्मीर टॉप पर रहा। यहां आतंकवादियों ने 18 पुलिसकर्मियों को मार डाला। इसके बाद दिल्ली में सड़क दुर्घटनाओं में दो पुलिसवालों की मौत हो गई।

 

ओडिशा में सबसे ज्यादा पुलिसवाले घायल हुए

 

एनसीआरबी ने अपनी ताजा रिपोर्ट में बताया है कि 2021 में अपराधियों को पकड़ने के लिए ऑपरेशन के दौरान ओडिशा में सबसे अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए। यहां इस तरह के अभियानों में कुल 188 पुलिसकर्मी घायल हुए, इनमें से 176 पुलिसवाले अपराधियों द्वारा और 12 दंगाइयों द्वारा घायल हुए थे। केरल में कुल 159 पुलिसकर्मियों को चोटें आईं, जिनमें 90 अपराधियों द्वारा, 68 दंगाइयों द्वारा और एक पुलिसवाला सड़क दुर्घटना में घायल हुआ। इसी तरह, तमिलनाडु में कुल 133 पुलिसकर्मी साल 2021 में घायल हुए। इनमें 96 पुलिसवाले दुर्घटनाओं में, तीन दुर्घटनावश खुद के हथियार से और 30 को अपराधियों ने घायल कर दिया।

 

वहीं, केंद्र शासित प्रदेशों में 2021 में दिल्ली में सबसे अधिक पुलिस कर्मी घायल हुए। यहां दंगों में 156, अपराधियों द्वारा 22 और दुर्घटनाओं में 17 पुलिसवाले घायल हुए।

 

प्रतीकात्मक चित्र

 

NCRB-2021: Left extremists kill twice as many policemen, report reveals

 

 

New Delhi | [National Bulletin] | NCRB- 2021: The latest report of National Crime Records Bureau NCRB (National Crime Records Bureau) has revealed a shocking revelation about the killings of policemen. National Crime Records Bureau According to the annual ‘Crime in India’ of NCRB (National Crime Records Bureau), in the year 2021, left-wing extremists killed twice as many policemen as terrorists. According to the report, the number of policemen killed in the violence by left-wing extremists (LWE) was twice the number of policemen killed by terrorists.

 

 18 policemen murdered

 

The NCRB report states that in the year 2021, where 18 policemen were killed by terrorists or extremists. At the same time, 40 policemen were killed by Left-wing extremists this year. At the same time, in this year, one in border firing, another in a rioting mob and 11 policemen were killed by criminals. The report also states that seven policemen were accidentally killed by their own weapons and 339 policemen were killed in accidents.

 

  The highest number of constable rank policemen died

 

The report also states that out of the total 427 policemen killed on duty, the highest number of policemen were of constable rank. Their number is 233. This was followed by 88 head constables, 37 assistant sub-inspectors, 26 sub-inspectors, four inspector rank policemen and one gazetted officer and two others died in the line of duty. Apart from this, a total of 1632 police personnel in various ranks are reported to have been injured in the year 2021.

 

Tamil Nadu has the highest number of policemen killed in 2021

 

A recent report by the National Crime Records Bureau also reveals that Tamil Nadu has the highest number of police casualties in 2021. 56 policemen have died in separate road accidents in Tamil Nadu. Also, two policemen were killed by the criminals. In the case of death of policemen, the name of Chhattisgarh comes at number two. Here 40 policemen were killed in Left Wing Extremism and seven in road accidents. Apart from this, 38 policemen died in road accidents in Bihar. Here rioters killed a policeman.

 

At the same time, if we talk about union territories, then in 2021, Jammu and Kashmir remained on top among such states. Here the terrorists killed 18 policemen. After this, two policemen died in road accidents in Delhi.

 

 Most policemen injured in Odisha

 

The NCRB in its latest report has said that Odisha has the highest number of policemen injured during the operation to nab the criminals in 2021. A total of 188 policemen were injured in such operations here, out of which 176 policemen were injured by criminals and 12 by rioters. A total of 159 policemen were injured in Kerala, including 90 by criminals, 68 by rioters and one policeman in a road accident. Similarly, a total of 133 policemen in Tamil Nadu were injured in the year 2021. Of these, 96 policemen were injured in accidents, three by their own weapons and 30 by criminals.

 

At the same time, among the Union Territories, Delhi had the highest number of police personnel injured in 2021. Here 156 policemen were injured in riots, 22 by criminals and 17 in accidents.

 

 

हाईकोर्ट के मजिस्ट्रेट खुद बाजार जाकर प्लास्टिक प्रतिबंध जांचेंगे haeekort ke majistret khud baajaar jaakar plaastik pratibandh jaanchenge

 

 

 

Related Articles

Back to top button