.

सिपाही पर हमले के आरोपी को पकड़ने गए एसपी और एसडीओपी पर बदमाश ने चलाई गोली | ऑनलाइन बुलेटिन

भोपाल | [मध्य प्रदेश बुलेटिन] | एमपी में प्रशासनिक और पुलिस टीम पर लगातार हमले हो रहे हैं। धार में एसडीएम और तहसीलदार पर हमले और अपहरण का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अब जिले के एसपी और एसडीओपी जैसे वरिष्ठ अफसरों पर बदमाश ने खुलेआम गोली चला दी गई। गुंडे-बदमाश पुलिस से इतने बेखौफ हो गए हैं कि वे अब पुलिस के वरिष्ठ अफसरों पर भी हमला करने से नहीं हिचक रहे हैं। हालांकि दोनों अधिकारी बाल-बाल बच गए और बदमाश को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। इस गोलीबारी में बदमाश भी घायल हो गया है।

 

जानकारी के अनुसार अलीराजपुर में एक सिपाही पर जानलेवा हमला करने वाले गुंडे को पकड़ने गए एसपी मनोज कुमार और एसडीओपी श्रद्धा सोनकर पर शनिवार रात बदमाश ने गोली चला दी। इसमें वे बाल-बाल बच गए। दूसरी गोली एसडीओपी के वाहन में लगी। इसके बाद पुलिस ने भी जवाब में फायर किए और घेराबंदी कर बदमाश वीनू उर्फ प्रवीण को गिरफ्तार कर लिया। बदमाश के पैर में गोली लगी है।

 

घटना के बारे में बताया गया है कि शनिवार रात आलीराजपुर कोतवाली में पदस्थ आरक्षक गंगाराम सोलंकी और आरक्षक नागरसिंह ताजियों की जानकारी लेने असाड़पुरा क्षेत्र की ओर जा रहा था। इसी दौरान सोरवा नाका तिराहे पर वीनू ने गंगाराम के सिर पर हमला कर दिया था।

 

एसडीओपी, थाना प्रभारी शिवराम तिलोरे और पुलिस बल ने घेराबंदी कर बदमाश वीनू को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वह भागने लगा। इस दौरान गिरने से वीनू को चोट लग गई। उसे जिला अस्पताल इलाज के लिए लाया गया, जहां से वह डराते. धमकाते हुए भाग निकला।

 

उसे पकड़ने घेराबंदी की गई। एसपी भी मौके पर पहुंचे। एसडीओपी, थाना प्रभारी शिवराम तिलोरे और पुलिस बल ने घेराबंदी कर रोकने का प्रयास किया। लेकिन, इसी बीच वीनू ने फायरिंग शुरू कर दी। उसने पहले एसपी फिर एसडीओपी की तरफ फायर किया। इसके जवाब में पुलिस ने भी गोलियां चलाईं। इसमें वीनू के पैर में पुलिस की गोली लग गई। घायल होने के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

 

 

सेवानिवृत्त कर्मी की विधवा भी पदोन्नति व क्रमोन्नति सहित अन्य लाभ पाने की हकदार | ऑनलाइन बुलेटिन

 

 

Related Articles

Back to top button