.

खुद को कोड़े क्यों मार रहे हैं राहुल गांधी? जानने के लिए यहां देखें वायरल वीडियो और पढ़ें विस्तृत खबर | ऑनलाइन बुलेटिन

हैदराबाद [ तेलंगाना बुलेटिन] | भारत जोड़ो यात्रा: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वे अपने आप को कोड़े मारते नजर आ रहे हैं। ये वीडियो तेलंगाना के बोनालु उत्सव का है। इस दौरान महिलाएं ढोल की थाप पर खूब नृत्य करती हैं और भीड़ को अपनी रस्सियों से कोड़े भी मारती हैं। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि एक व्यक्ति अपने हाथ में कोड़ा लिए होता है तभी राहुल गांधी आते हैं और कोड़ा लेकर खुद को मारने लगते हैं।

 

दरअसल, राहुल गांधी ने कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के 57 वें दिन, तेलंगाना के पारंपरिक बोनालु उत्सव में भाग लिया। इस दौरान उन्होंने एक भारी रस्सी उठाई और बुधवार को ‘पोथराजू’ का अवतार भी धारण किया।

 

बता दें कि बोनालु उत्सव में पोथाराजू एक खास शख्स होता है। ‘पोथाराजू’ बना व्यक्ति अपने शरीर पर कोड़े मारता है। पोथाराजू, बोनालू फेस्टिवल की देवी महाकाली का भाई है, जो देवी की रक्षा के लिए चाबुक चलाता है। परंपरा के मुताबिक, पोथाराजू को देवी महाकाली के विभिन्न रूपों वाली सात बहनों का भाई माना जाता है। कांग्रेस नेता भी अपनी यात्रा के दौरान यही अवतार में दिखे। बोनालु उत्सव के दौरान, महिलाएं जुलूस निकालते हुए ‘पोथाराजू’ के नेतृत्व में मंदिरों में जाती हैं।

 

 

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 7 नवंबर को महाराष्ट्र में प्रवेश करने से पहले, कुल 375 किलोमीटर की दूरी तक फैले तेलंगाना में 19 विधानसभा और 7 संसदीय क्षेत्रों को कवर करेगी। यात्रा 4 नवंबर को एक दिन का ब्रेक लेगी। राहुल गांधी राज्य में पार्टी के प्रचार के दौरान बुद्धिजीवियों, विभिन्न समुदायों के नेताओं से मिलते रहे हैं, जिनमें खेल, व्यवसाय और मनोरंजन क्षेत्र की हस्तियां शामिल हैं। भारत जोड़ो यात्रा 7 सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई थी।

अग्निपथ को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन : 22 ट्रेनें रद्द, 6 का रूट घटा, यहां देखें पूरी लिस्ट agnipath ko lekar ho rahe hinsak pradarshan : 22 trenen radd, 6 ka root ghata, yahaan dekhen pooree list
READ

 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि कर्नाटक के बेल्लारी में जींस उद्योग में काम करने वाले 3.5 लाख से अधिक लोगों ने 2016 में नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के ‘‘गलत’’ कार्यान्वयन के कारण अपनी आजीविका खो दी। गांधी ने दिन का पैदल मार्च समाप्त करने के बाद यहां के पास मुतांगी में एक सभा में कहा कि उनकी पार्टी उन कर्मचारियों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के प्रबंधन के साथ खड़ी होगी जिन पर केंद्र की निजीकरण को लेकर नजर है।

 

ये भी पढ़ें:

पार्टी बताएगी ‘क्रिमिनल’ के अलावा कोई और उम्मीदवार क्यों नहीं मिला, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और सोशल मीडिया पर जानकारी करना होगा प्रकाशित – चुनाव आयोग | ऑनलाइन बुलेटिन

 

Related Articles

Back to top button