.

छत्तीसगढ़ के सुकमा में मुठभेड़, 5 लाख का खूंखार नक्सली कमलेश ढेर chhatteesagadh ke sukama mein muthabhed, 5 laakh ka khoonkhaar naksalee kamalesh dher

सुकमा | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | जिले में शुक्रवार को माओवादियों से जवानों की मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में जवानों ने एक माओवादी को मार गिराया है। मारे गए माओवादी की शिनाख्त कमलेश के रूप में की गई है जो संगठन में केरलापाल एरिया कमेटी के एसीएम के पद पर था और उस पर 5 लाख का इनाम घोषित किया गया था।

 

मुठभेड़ की जानकारी देते हुए सुकमा एएसपी ने बताया कि गादीरास थानाक्षेत्र के मनकापाल क्षेत्र में माओवादियों के होने की पुख्ता जानकारी पर मनकापाल और गादीरास थाना से डीआरजी के जवानों की टीम को मौके के लिए रवाना किया गया था। इस ऑपरेशन को स्वयं एएसपी किरण चौहाण ने नेतृत्व किया।

 

मौके पर पहुंचते ही माओवादियों ने जवानों पर हमला कर दिया और दोनों ओर से लगभग तीन घंटे तक फायरिंग चलती रही। मुठभेड़ समाप्त होने पर घटनास्थल की सर्चिंग करने पर एक पुरुष माओवादी कमलेश के शव और एक देशी कट्टा के साथ कुछ जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। इस मुठभेड़ में जवान पूरी तरह सुरक्षित हैं।

 

दो दिन में 2 बड़ी कार्यवाही

 

बस्तर में मानसून के आते ही माओवादियों के खिलाफ चलाए जाने वाले ऑपरेशन में अमूमन कमी आ जाती है। इसके पीछे बस्तर के अंदरूनी क्षेत्रों में नदी नालों में पानी भर जाना और जंगल के और घने हो जाने को भी प्रमुख वजह माना जाता रहा है। और इसका फायदा माओवादी अक्सर उठाते हुए अंदरूनी क्षेत्रों में निश्चिंत होकर संगठन विस्तार और अन्य कार्यों को करने में लग जाते रहे हैं।

 

पर अब बस्तर में सुरक्षाबलों ने भी अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए माओवादियों पर लगातार हमला करना शुरू कर दिया है। और यही वजह है कि बीते दो दिनों में ही बस्तर के दंतेवाड़ा और सुकमा में जवानों को दो बड़ी सफलता मिली है।

छत्तीसगढ़ में होगी 10,000 स्कूली शिक्षकों की भर्ती chhatteesagadh mein hogee 10,000 skoolee shikshakon kee bhartee
READ

 

आपको बता दें कि गुरुवार को भी दंतेवाड़ा के कटेकल्याण थानाक्षेत्र में जवानों ने एक पांच लाख के इनामी माओवादी को मार गिराया था।

 

 

 

 

Encounter in Chhattisgarh’s Sukma, 5 lakh dreaded Naxalite Kamlesh killed

 

 

 

Sukma | [Chhattisgarh Bulletin] | On Friday, the soldiers had an encounter with the Maoists in the district. In this encounter, a Maoist has been killed by the soldiers. The slain Maoist has been identified as Kamlesh, who was the ACM of the Keralapal Area Committee in the organization and a reward of Rs 5 lakh was announced on him.

 

Giving information about the encounter, Sukma ASP said that on the firm information about the presence of Maoists in Mankapal area of ​​Gadiras police station, a team of DRG personnel from Mankapal and Gadiras police station was sent to the spot. This operation was led by ASP Kiran Chauhan himself.

 

As soon as they reached the spot, the Maoists attacked the jawans and firing from both the sides continued for about three hours. A search of the spot after the encounter ended, the body of a male Maoist Kamlesh and a country-made pistol along with some live cartridges were recovered. The jawans are completely safe in this encounter.

 

2 big actions in two days

 

With the onset of monsoon in Bastar, the operation against the Maoists usually decreases. Behind this, the flooding of river channels in the interior areas of Bastar and the thickening of the forest has also been considered as the main reason. And taking advantage of this, the Maoists are often engaged in the expansion of the organization and doing other works, resting in the internal areas.

दोस्ती | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

But now the security forces in Bastar have also started attacking the Maoists continuously, changing their strategy. And this is the reason that in the last two days, the jawans have got two big successes in Dantewada and Sukma of Bastar.

 

Let us tell you that on Thursday also a five lakh rewarded Maoist was killed by the jawans in Katekalyan police station area of ​​Dantewada.

 

 

 

©नवागढ़ मारो से धर्मेंद्र गायकवाड़ की रपट

 

 

 

घर के बाहर सो रही महिला को हाथी ने कुचला, बेटे-बहू ने भागकर बजाई जान ghar ke baahar so rahee mahila ko haathee ne kuchala, bete-bahoo ne bhaagakar bajaee jaan

 

Related Articles

Back to top button